Tissue paper manufacturing business plan (टिश्यू पेपर बनाने का बिज़नेस)

आजकल बदलते हुए समय और निरन्तर आधुनिकता को अपनाते हुए हम सभी का रहन सहन और जीवनशैली भी बदल गयी है। हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में भी बहुत परिवर्तन आ गया है और इस परिवर्तन के साथ बहुत सी चीजें बदली हैं। आजकल मार्केट में टिश्यू पेपर की डिमांड काफी बढ़ गई है, क्योंकि हर जगह पर लोग टिश्यू पेपर का उपयोग करने लगे हैं। ना सिर्फ, ऑफिस, होटल, रेस्टोरेंट, हॉस्पिटल, ढाबा बल्कि घरों में भी टिश्यू पेपर का प्रयोग बहुत ज्यादा किया जा रहा है।

इसके प्रयोग का एक अन्य कारण यह भी है कि इसका उपयोग करने से पानी कम खर्च होता है। हर जगह पर ये जरूरी नहीं होता है कि हमें पानी आसानी से उपलब्ध हो जाये अतः लोग टिश्यू पेपर का यूज़ करते हैं। टिश्यू पेपर को बहुत प्रकार से यूज़ किया जाता है अधिकतर इसका उपयोग हाथ और मुंह को साफ करने के लिए किया जाता है। 

चूंकि इसका उपयोग आज का हर जगह पर किया जा रहा है अतः मार्केट में इसकी मांग भी बढ़ रही है, इसलिए टिशू पेपर मैनुफैक्चरिंग का बिजनेस करना काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। टिशू पेपर बनाने का बिज़नेस प्रारंभ में काफी कम व्यक्तियों की सहायता की आवश्यकता होती है, यानि इस व्यापार में बहुत ज़्यादा श्रमिकों की जरूरत नहीं पड़ती है और लाभ अधिक होता है। आप भी यह बिजनेस करके अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। आज हम आपको इसी बिज़नेस से सम्बंधित सारी आवश्यक जानकारियां देने जा रहे हैं, जिसे पढ़कर आप भी अपना टिश्यू पेपर बनाने का बिज़नेस शुरू करके अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

टिश्यू पेपर बनाने का बिज़नेस करने के लिए लोन

व्यवसाय चाहे कोई भी हो उसके लिए पूंजी की आवश्यकता तो पड़ती ही है और टिशु पेपर बनाने के व्यवसाय में थोड़ी बहुत जमा पूंजी से काम नहीं चलता है। अगर आप यह बिज़नेस अपने घर से शुरु करना चाहते हैं, तो आपको लोन लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी, परन्तु अगर आप यह बिजनेस बड़े स्तर पर करना चाहते हैं तब आपको इसके लिए लोन लेने की आवश्यकता होगी। भारत में सरकार द्वारा जनता को  अपना कारोबार शुरू करने हेतु मुद्रा लोन” प्रदान किया जाता है। अतः आप भी टिशु पेपर मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस की शुरुआत करने हेतु सरकार से मुद्रा लोन ले सकते हैं। यदि आप यह लोन लेने के इच्छुक हैं तो आपको इनके ऑफिस में जाकर अपने बिजनेस का सारा विवरण  बताना होगा  आपको यह भी जानकारी देनी होगी  की  आपको इस कारोबार में किन-किन वस्तुओं की आवश्यकता पड़ेगी और यह सारी वस्तुएं खरीदने हेतु आपको कितने रुपयों की आवश्यकता है यह सभी बातें लिख कर फिर आपको वहां अपना एप्लीकेशन फॉर्म जमा करवाना होगा।

Area Analysis (क्षेत्र विश्लेषण) अवश्य कीजिए

आप चाहे कोई भी बिज़नेस क्यों ना शुरु करने वाले हों, आपको उसके लिए सर्वप्रथम  Area Analysis यानि क्षेत्र विश्लेषण अवश्य कर लेना चाहिए। क्षेत्र विश्लेषण में आपको उस एरिया के अंतर्गत रिसर्च करना होता है, जहां आप अपना बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं। इस रिसर्च में आपको बहुत सारी जानकारियां प्राप्त करनी होगी, जैसे कि उस एरिया में टिश्यू पेपर मैनुफैक्चरिंग के कितने प्लांट पहले से हैं, वह अपनी कम्पनी में किस प्रकार के प्रोडक्ट बनाते हैं और उनके प्रोडक्ट का रेट कितना है। आपको यह भी विश्लेषण करना होगा कि क्या आप उस कम्पनी से कम रेट रख सकते हैं, इसके अलावा वहां पर ग्राहकों की मांग ज्यादा क्या है, इस प्रकार की जानकारी आपको पता करनी होगी, जो कि एक अति महत्वपूर्ण स्टेप है।

टिश्यू पेपर बनाने के बिज़नेस हेतु कच्चा माल (Raw Material)

टिश्यू पेपर बनाने हेतु आपको जिस एक मटेरियल की आवश्यकता होगी वह होता है  टिश्यू पेपर बनाने के लिए पेपर रोल। आपको कच्चे माल जानी रॉ मटेरियल के तौर पर केवल इन पेपर रोल की ही आवश्यकता पड़ेगी जिसकी सहायता से आप टिश्यू पेपर बना पाएंगे।

टिश्यू पेपर बनाने हेतु रॉ मटेरियल का रेट

आपको बता दें कि टिश्यू पेपर बनाने के लिए रॉ मटेरियल यानी पेपर का जो रोल इस्तेमाल किया जाता है, वह बहुत तरह की क्वालिटी में आता है। एक रोल हल्का यानि low quality में आता है, तथा दूसरी प्रकार का रोल इससे अच्छी क्वालिटी का आता है, यदि आप अच्छी क्वालिटी वाले पेपर रोल को भी खरीदेंगे तो आपको यह 60 रुपए से लेकर 80 रुपए में मिलेगा।

टिश्यू पेपर बनाने की मशीन व उसका मूल्य

टिश्यू पेपर बनाने की मशीन पूर्णतः ऑटोमैटिक होती है और यह इलेक्ट्रिसिटी द्वारा चलती है। इस मशीन को अगर एक बार प्लेन पेपर रोल से जोड़ दिया जाता है अथवा इसमें पेपर रोल लगा दिया जाता है तो फिर इसमें सारा प्रोसेस अपने आप ही होता है और फिर टिश्यू पेपर तैयार होकर मशीन से बाहर आ जाता है। इस मशीन का रेट करीब ₹4 लाख 50 हजार होता है। आप एक बार इस मशीन को खरीद लेते हैं तो फिर आपको जो भी साइज के टिश्यू पेपर बनाने हों, आप बना सकते हैं। हालांकि मार्किट में जो टिश्यू पेपर बिकता है, वह 30 बाई 30 का होता है और उसका रेट करीब ₹10 ₹20 और ₹30 तक अलग अलग पैकेट के अनुसार होता है। 

टिश्यू पेपर बनाने के बिज़नेस प्लांट के लिए स्थान 

यह बिज़नेस शुरू करने के लिए अच्छी जमीन की आवश्यकता होती है क्योंकि इस व्यापार में प्लांट बनाना होता है और फिर उसके बाद माल रखने के लिए गोडाउन भी बनाना होता है। इसके अलावा थोड़ी जगह पार्किंग के लिए भी चाहिए होगी।

टिश्यू पेपर बनाने की मशीन को रखने के लिए ही कम से कम 600 वर्ग फीट के स्थान की जरूरत आपको पड़ेगी। तैयार माल की पैकेजिंग  इत्यादि के लिए भी 100 वर्ग फीट जितनी जगह की जरूरत होगी।

  • प्लांट (Plant) : 300 Square Feet to 500 Square Feet
  • गोडाउन (गोडाउन) : 500 Square Feet to 700 Square Feet
  • कुल स्थान (Total space) : 1000 Square Feet to 1200 Square Feet

टिश्यू पेपर बनाने का बिजनेस करने के लिए कुल इन्वेस्टमेंट

टिश्यू पेपर के बिज़नेस के लिए कुल निवेश 5 से 7 लाख रुपए का तक का होता है। बड़े प्लांट की स्थापना के लिए आप ज्यादा निवेश कर सकते हैं। हालांकि इस बिज़नेस के अन्दर कितना इन्वेस्टमेंट करना है इस व्यापार तथा इसके लिये ली गयी जमीन पर निर्भर होता है अगर बड़ा कारोबार शुरु करते हैं तो अधिक निवेश करना होगा व घर से ही छोटा बिज़नेस शुरु करते हैं तब आपको कम निवेश करने की आवश्यकता होती है। अगर आपके पास स्वयं की जमीन है तो कम इन्वेस्टमेंट में ही आप बड़ा प्लांट लगा सकते हैं। अगर आप इस बिजनेस हेतु जमीन किराये पर लेते हैं या फिर जमीन खरीदते हैं तो  आपको अधिक इन्वेस्टमेंट करने की आवश्यकता होगी।

इस बिजनेस में काम आने वाली मशीन भी कई तरह की आती है और सभी मशीनों का मूल्य भी अलग होता है, अतः आपको कितना निवेश करना है यह मशीनों पर भी निर्भर है। फिर आपको अपना बिजनेस और बढ़ाने के लिए बिल्डिंग बनानी होती है जिसके अन्दर मशीन लगती है तथा माल इत्यादि रखने के लिए बिल्डिंग और बिजली, पानी की सुविधा तथा कच्चा माल, वाहन इन सभी चीज़ों के लिए इन्वेस्टमेंट होता है जैसे की :

  • जमीन (land)  :   Around Rs. 5 Lakhs To Rs. 10 Lakhs (जमीन आपकी है तो यह इन्वेस्टमेंट नहीं होगा ) 
  • बिल्डिंग (Building) =  Around Rs.  3 Lakhs To Rs. 5 Lakhs (किराये पर भी ली जा सकती है )
  • मशीन (Machine) = Around Rs. 3 Lakhs  To Rs. 5 Lakhs
  • कच्चे माल (Raw Material) की लागत = Around Rs. 50,000  To Rs. 1 Lakhs
  • कुल इन्वेस्टमेंट :- Around Rs. 5 Lakh To Rs. 7  Lakhs  (यदि जमीन स्वयं की है )

टिश्यू पेपर बिज़नेस में होगी 97.50 लाख रुपए की बिक्री

इस टिश्यू पेपर बिजनेस में आप एक वर्ष के अंदर 1.50 लाख किलो पेपर नैपकिन का उत्पादन कर सकते हैं। इससे अधिक उत्पादन करने हेतु आपको मंजूरी लेने की आवश्यकता पड़ेगी। इस प्रोडक्शन यानि तैयार माल को आप मार्केट में 65 रुपए प्रति किलो की रेट से बेच सकते हैं। अगर आप एक वर्ष के अंदर 1.50 लाख किलो टिश्यू पेपर का उत्पादन करते हैं तब 65 रुपए के हिसाब से आप करीब 97.50 लाख रुपए का टर्नओवर करेंगे। यदि आपने अपने द्वारा किए गए सारे इन्वेस्टमेंट इसमें से निकाल भी दिए तब भी आप एक वर्ष में करीब 10 से 12 लाख रुपए तक की कमाई आसानी से कर सकते हैं।

टिश्यू पेपर बनाने की पूरी प्रोसेस 

टिश्यू पेपर बनाने की प्रोसेस बहुत ही आसान होती है और इसे बनाने के लिए केवल एक ही मशीन का उपयोग किया जाता है।  टिश्यू पेपर बनाने की पूरी प्रोसेस यहां हम स्टेप बाय स्टेप बता रहे हैं :

  • सर्वप्रथम पेपर रोल को मशीन में दी गयी रोलिंग जगह पर सेट करना होगा। यहाँ पर से पेपर रोल का एक भाग मशीन में लगान होगा।
  • अगर आप रंगीन टिश्यू पेपर बनाना चाहते हैं, तो आप मशीन में दिए गये कलरिंग स्थान पर अपनी पसंद के अनुसार रंग डाल दीजिये और फिर इससे पेपर को जोड़ दीजिये। पेपर को किसी भी प्रकार का टैग जैसे किसी होटल अथवा रेस्टोरेंट का नाम आदि देने हेतु इसी कलर पैनल में रबर का टैग लगाना होता है।
  • फिर यहाँ से निकाल कर पेपर रोल का भाग अगली प्रोसेस एम्बोस्सिंग के लिए जाएगा। एम्बोस्सिंग हेतु मशीन में एम्बोस्सिंग रोल लगा हुआ रहता है। एम्बोस्सिंग रोल से निकलने पर पेपर रोल कुछ पारदर्शी, जैसे की टिश्यू पेपर होते हैं, उसी प्रकार हो जाता है।
  • फिर एम्बोस्सिंग के पश्चात यह पेपर मशीन के फोल्डिंग सेक्शन में जाता है। इस सेक्शन में यह पेपर टिश्यू पेपर की तरह फोल्ड हो कर कटना शुरू हो जाता है।
  • बस फिर अंत में इस कटिंग के बाद यह टिश्यू पेपर बन कर तैयार हो जाते हैं।    

टिश्यू पेपर की पैकेजिंग प्रोसेस 

टिश्यू पेपर पूरी तरह बनकर तैयार हो जाने पर  इसकी पैकिंग करनी होती है। आपको पैकिंग पर खास ध्यान देने की जरूरत होगी। पैकिंग के लिए आप अपनी कंपनी के रजिस्टर्ड टैग या ट्रेडमार्क का उपयोग भी कीजिए। पैकिंग के लिए आप अपने ट्रेड मार्क छपे  हुए  प्लास्टिक के पैकेट बनवाई और हर पैकेट में 50 या 100 टिश्यू पेपर डाल कर इसे बैक कीजिए। फिर इन पैकेट्स को एक बड़े पैकेट में आर्डर के अनुसार पैकिंग कर के आपको इसे भेजना होगा।  

टिश्यू पेपर बनाने के बिज़नेस हेतु जरूरी लाइसेंस 

टिशू पेपर बनाने के बिजनेस को शुरू करने हेतु आपको कुछ आवश्यक लाइसेंस भी लेने होंगे जो इस प्रकार हैं :

  • इस बिज़नेस को स्टार्ट करने हेतु आपको सर्वप्रथम अपने कंपनी का पंजीकरण करवाना होगा।
  • आपको ट्रेड लाइसेंस लेने की भी आवश्यकता होगी। 
  • पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड द्वारा एनओसी सर्टिफिकेट लेना होगा।
  • फिर आपको उद्योग आधार पंजीकरण भी करवाना होगा।

टिश्यू पेपर बनाने के बिज़नेस की मार्केटिंग 

इस बिजनेस को कैसे स्टार्ट करना है यह पूरी जानकारी दो हमने आपको दी  लेकिन किसी भी  बिजनेस के लिए मार्केटिंग  करना बहुत जरूरी होता है ताकि लोगों को आपके प्रोडक्ट के बारे में पता चले। आजकल बाजार में टिश्यू पेपर की मांग बहुत ज्यादा है। सफाई और हाइजीन को देखते हुए भी  इसका उपयोग बहुत ज्यादा होता है टिश्यू पेपर्स बायोडिग्रेडेबल  होते हैं  तो इन से पर्यावरण को भी हानि नहीं पहुंचती है। हर वर्ष देश में टिश्यू पेपर्स की खपत 12% तक बढ़ रही है। इसलिए टिश्यू पेपर का कारोबार विस्तृत होता जा रहा है तथा लोग इस व्यापार को करना पसन्द कर रहे हैं। 

टिश्यू पेपर बिजनेस को स्टार्ट करने के बाद आपको अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग हेतु बड़े होटल और रेस्टोरेंट में कांटेक्ट करना होगा। हॉस्पिटल में भी  टिशू पेपर बहुत उपयोग किए जाते हैं अतः आप हॉस्पिटल से भी कांटेक्ट कर सकते हैं। आप ढाबों में भी कांटेक्ट करके अपने टिश्यू पेपर की मार्केटिंग कर सकते हैं। फिर धीरे-धीरे आप लोगों को अपने संपर्क हेतु नंबर दीजिए और उनके नंबर लीजिए। इस प्रकार से थोड़े समय में आपको टिश्यू पेपर बनाने के ऑर्डर मिलेंगे और उन ऑर्डर्स के अनुसार आप अपना माल बना कर उन्हें बेचिए और पैसे कमाइए। 

Leave a Comment