Seo friendly article kaise likhe

आज के समय में ब्लॉगिंग करना बहुत ही आसान हो गया है। हर कोई व्यक्ति ब्लॉगिग करके पैसा कमाना चाहता है। ब्लॉगिंग के क्षेत्र में हर कोई व्यक्ति सफल होना चाहता है। लेकिन ब्लॉगिंग के क्षेत्र में वही व्यक्ति सफल होगा, जिसको ब्लॉगिंग के बारे में काफी जानकारी है। जो व्यक्ति ब्लॉगिंग करता है और आर्टिकल अपनी वेबसाइट पर डालता है। उस व्यक्ति को सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के जरिए अपने आर्टिकल को Rank करवाना बहुत जरूरी है। क्योंकि जब तक आपका आर्टिकल गूगल के पहले पेज पर रैंक नहीं करेगा। आपको ब्लॉगिंग से कोई भी ज्यादा फायदा नहीं होने वाला है। जो व्यक्ति Blogging करता है। उस व्यक्ति के जेहन में Seo friendly article kaise likhe यह सवाल अवश्य होता है। आज हम इस आर्टिकल में Seo friendly article kaise likhe के बारे में संपूर्ण जानकारी आप तक पहुंचाएंगे।

Seo friendly article kaise likhe

SEO Friendly आर्टिकल लिखने के लिए आपको सबसे पहले Keyword Research करना होगा। जिन Keyword पर ट्रैफिक ज्यादा है। उसी Keyword पर आपको आर्टिकल Create करना चाहिए। उन Article create करने से आपको काफी फायदा होगा। क्योंकि जिस Keyword पर रिजल्ट कम और search ज्यादा है। ऐसे में यदि आप उस टॉपिक पर आर्टिकल लिखते हैं। तो आपके आर्टिकल पर ट्रैफिक ज्यादा आने का Chance रहता है। इस आर्टिकल में हम Seo friendly article kaise likhe इसके कुछ तरीकों के बारे में बात करने वाले हैं।

 1. आर्टिकल लिखने से पहले बेहतर टॉपिक का चयन करें

जब भी आप सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन फ्रेंडली आर्टिकल लिखने के बारे में सोचते हैं। तो उससे पहले आपको एक बेहतर टॉपिक सेलेक्ट करना होगा। जिस टॉपिक पर ट्रैफिक ज्यादा हो या ऐसे कह सकते हैं। जिस टॉपिक की जानकारी लेने के लिए लाखों लोग गूगल पर सर्च कर रहे हैं। ऐसे टॉपिक पर यदि आप अपना कंटेंट तैयार करते हैं। तो आपके ब्लॉग पर बेहतर ट्रैफिक आएगा। कीवर्ड रिसर्च करने के लिए आप किसी भी थर्ड पार्टी प्रीमियम वेबसाइट की सहायता ले सकते हैं। इसके अलावा गूगल कीवर्ड प्लानर के माध्यम से भी आप Keyword research  कर सकते हैं। हालांकि इस फ्री टूल में ज्यादा सुविधा आपको नहीं दी जाएगी।

2. Subheading की सरचना बेहतर बनाएं

व्यक्ति द्वारा Topic का चयन करने के पश्चात उस टॉपिक में कौन-कौन सी Subheading को डालना है। इसके बारे में बेहतर सरचना आपको आर्टिकल लिखने से पहले तैयार करनी होगी। क्योंकि कई बार Subheading के आधार पर भी आर्टिकल गूगल पर आसानी से Rank हो जाता है। इसीलिए किसी भी टॉपिक का चयन करने के पश्चात उस टॉपिक में कौन-कौन सी Subheading आ सकती है। इसके बारे में विषय सूची बनानी होगी। उदाहरण के तौर पर बात कर सकते हैं, कि जिस Topic का आपने चयन किया है। उस टॉपिक का Title क्या रखना है इसके बारे में पहले सोच लें। उसके पश्चात Main heading क्या रखनी है व Subheading क्या रखनी है। इसके बारे में संपूर्ण विषय सूची तैयार करें।

3.  आर्टिकल लिखते समय पैराग्राफ और heading का प्रयोग अवश्य करें

 कोई भी व्यक्ति जब बेहतर टॉपिक का चयन कर लेता है और उस टॉपिक से संबंधित हेडिंग सब वेडिंग की विषय सूची बना लेता है। उसके पश्चात जब व्यक्ति आर्टिकल लिखना शुरु करता है। तो व्यक्ति को छोटे-छोटे  पैराग्राफ मतलब कि प्रत्येक पैराग्राफ 150 वर्ड के अंदर होना जरूरी है। इस प्रकार से अच्छे पैराग्राफ बनाएं और आवश्यकता के अनुसार हेडिंग का प्रयोग आर्टिकल में अवश्य करें। आप जितने ज्यादा हेडिंग का प्रयोग करके उसके नीचे पैराग्राफ के रूप में आर्टिकल के Create करते हैं  तो गूगल पर रैंक होने के चांसेस बहुत ज्यादा रहते हैं।

4. आर्टिकल में सरल व कनेक्टिविटी शब्दों का प्रयोग करें

जब भी कोई व्यक्ति आर्टिकल create करता है। तो उस व्यक्ति के लिए सबसे महत्वपूर्ण यह है, कि व्यक्ति द्वारा सरल शब्दों का प्रयोग किया जाए। ताकि पाठक को आसानी से आर्टिकल समझ में आ सके। आपके द्वारा कठिन शब्दों का प्रयोग करने पर आर्टिकल गूगल में रैंक होने के चांस कम होते हैं। साथ ही साथ यदि Visitors आपके आर्टिकल तक पहुंच जाते हैं। फिर भी विजिटर आपके द्वारा लिखी गई सामग्री को नहीं समझ पाते हैं और ऐसे में आपका पेज छोड़कर किसी दूसरे वेबसाइट पर चले जाते हैं। इसीलिए आपको आर्टिकल लिखते समय सरल शब्दों का प्रयोग करना चाहिए। साथ ही साथ आपको कई ऐसे शब्द जैसे :- मतलब है कि, दूसरे शब्दों में, उदाहरण के तौर पर, इस तरह से, और, व, एवं, लेकिन,परन्तु इत्यादि कनेक्टिविटी शब्दों का भी प्रयोग करना चाहिए। ताकि आर्टिकल स्पष्ट रूप से पढ़ने वाले को समझ में आ सके।

5. आर्टिकल से संबंधित फोकस  keyword का चुनाव करें

जब भी कोई व्यक्ति आर्टिकल लिखता है। तो उस आर्टिकल का एक फोकस कीवर्ड होना बहुत जरूरी है और उस कीवर्ड का चयन करने के पश्चात उस Focus Keyword को आर्टिकल में जगह-जगह पर उपयोग करना जरूरी है। ताकि आपका आर्टिकल गूगल में आसानी से रैंक हो सके और उस Focus Keyword को यदि कोई व्यक्ति गूगल में सर्च करता है। तो व्यक्ति के सामने आपका आर्टिकल भी दिखाई दे सकता है।

गूगल पर आर्टिकल keyword के जरिए ही Rank होते हैं। यदि किसी व्यक्ति के जेहन में Seo friendly article kaise likhe यह सवाल है।  तो व्यक्ति को सबसे पहले Focus Keyword पर अपना पूरा ध्यान लगाना होगा। आपको उसी key word का चुनाव करना है। जिस पर ज्यादा ट्रैफिक हो। मतलब यह है,कि आप Keyword के आधार पर भी आर्टिकल तैयार कर सकते हैं।

6. आर्टिकल की लंबाई सामान्य रखें

जब भी कोई व्यक्ति अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर कोई आर्टिकल लिखता है। तो उस व्यक्ति को सबसे पहले सामान्य लंबाई का आर्टिकल लिखना होगा। मतलब यह है, कि गूगल में आर्टिकल को रैंक करवाने के लिए मिनिमम 300 वर्ड का आर्टिकल व्यक्ति को लिखना बहुत जरूरी है। 300 से कम वर्ड के आर्टिकल गूगल पर आसानी से रैंक नहीं होते हैं। Seo friendly article kaise likhe इस बात पर व्यक्ति फोकस करना चाहता है। तो व्यक्ति को सबसे पहले सामान्य लंबाई का आर्टिकल तैयार करना होगा। व्यक्ति को न्यूनतम 300 वर्ड लंबाई में आर्टिकल को तैयार करना होगा।

7. अपने website के पुराने आर्टिकल की लिंक प्रदान करें

जब व्यक्ति आर्टिकल लिख देता है और उसके पश्चात जब व्यक्ति द्वारा अपने आर्टिकल वेबसाइट पर पब्लिश किया जाता है। तो व्यक्ति को अपना आर्टिकल बेहतर तरीके से एडिट करने की जरूरत रहती है। क्योंकि सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के जरिए गूगल पर आर्टिकल को रैंक करवाने के लिए बेहतर तरीके से एडिट करना बहुत जरूरी है। उसके साथ-साथ आप अपने पुराने आर्टिकल का लिंक भी नए आर्टिकल के बीच में दे सकते हैं। इससे गूगल में आर्टिकल रैंक होने के चांसेस बढ़ जाते हैं।

8. सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन Plugin का उपयोग करें

जो व्यक्ति अपना आर्टिकल सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन ये गूगल में Rank करवाना चाहता है। उस व्यक्ति के लिए सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन Plugin वर्डप्रेस पर डाउनलोड करना बहुत अनिवार्य है। हालांकि यदि कोई व्यक्ति ब्लॉगर पर काम करता है। तो ऐसे में व्यक्ति थर्ड पार्टी plugin डाउनलोड नहीं कर सकता है। परंतु जो व्यक्ति वर्डप्रेस या अन्य प्लेटफार्म के जरिए काम कर रहे हैं  उन लोगों को SEO Plugin डाउनलोड करने की आवश्यकता है। क्योंकि इस प्रकार के Plugin के माध्यम से आप आसानी से गूगल में अपना आर्टिकल रैंक करवा सकते हैं।

वर्ल्ड पर्स पर बहुत सारे SEO plugin उपलब्ध करवाए गए हैं। जिसमें Yoast SEO और Rank Math SEO काफी लोकप्रिय सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन plugin है। Yoast SEO Plugin जिसका उपयोग आप फ्री में कर सकते है। इसके अलावा यदि कोई व्यक्ति इस plugin प्रीमियम वर्जन खरीदना चाहता है  तो व्यक्ति इसका प्रीमियम वर्जन भी खरीद सकता है और प्रीमियम वर्जन खरीदने के बाद व्यक्ति को कई अन्य सहायता जैसे:- कीवर्ड रिसर्च इत्यादि भी उपलब्ध करवाई जाती है।

9. बेहतर मेटा डिस्क्रिप्शन तैयार करें

यदि कोई व्यक्ति सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन Friendly आर्टिकल लिखना चाहता है। तो उस व्यक्ति को मेटा डिस्क्रिप्शन बेहतर तरीके से तैयार करना पड़ेगा। हालांकि लोगों का मानना है, पहले पैराग्राफ कि 1 से 2 लाइन मेटा डिस्क्रिप्शन में आप डाल सकते हैं। लेकिन ऐसा करने से आपके आर्टिकल को रैंक होने में मदद नहीं मिलेगी। आपको अपने आर्टिकल का एक निचोड़ इस Meta डिस्कशन में डालना होगा।  जो 160 कैरेक्टर तक होना चाहिए।

10.Outbond Link & Alt Image keyword का प्रयोग करना

इसके अलावा सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन Friendly आर्टिकल लिखने के लिए व्यक्ति को Outbond link का प्रयोग करना होता है। Outbond का मतलब यह है, कि आपके आर्टिकल में लिखे गए Power word के विकिपीडिया की लिंक आपको डालनी होती है। इसके साथ ही आपको अपने फोकस Keyword को इमेज के Alt Image Keyword वाले section में डालना जरूरी है। ऐसा करने से आपका आर्टिकल Rank होने के साथ-साथ आर्टिकल में उपयोग किया जाने वाला फीचर इमेज भी रैंक होगा।

conclusion

गूगल पर अपने आर्टिकल की अच्छी रैंक प्राप्त करने के लिए लाखों लोग प्रयास करते हैं। लेकिन हर कोई व्यक्ति गूगल पर आर्टिकल को अच्छी रैंक प्रदान नहीं करवा पाता है। गूगल पर बेहतर रैंक प्रदान करवाने के लिए आपको सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन मुख्य रुप से ध्यान रखना होगा। इसके अलावा आपको कई मुख्य बातों का ध्यान रखना पड़ेगा। जिसके माध्यम से आप अपने आर्टिकल को आसानी से गूगल के पहले पेज पर Rank करवा सकते हैं। व्यक्ति को गूगल पर अपने आर्टिकल को Rank करवाने के लिए नियमित रूप से कंटेंट डालने होंगे। उसके अलावा व्यक्ति को सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन फ्रेंडली आर्टिकल लिखना होगा। आज हमने इस आर्टिकल में Seo friendly article kaise likhe इसके बारे में संपूर्ण जानकारी आप तक पहुंचाई है।

Leave a Comment