SBI online money transfer using debit card

SBI भारत का सबसे बड़ा बैंक हैं जो अपने कस्टमर्स को बहुत प्रकार की बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराता है। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) में नेट बैंकिंग के द्वारा अपने कस्टमर्स को इंस्टेंट मनी ट्रांसफर (IMT) की सुविधा भी दी जाती है। इस बैंक की इंटरनेट बैंकिंग वेबसाइट onlineSBI.com में बताया गया है कि जिस व्यक्ति ने भी बैंक की इंटरनेट बैंकिंग सुविधा को सब्सक्राइब किया है ऐसा वह कोई भी व्यक्ति किसी भी बेनेफिसिअरी को उसकी बेसिक इन्फॉर्मेशन के द्वारा ही पैसे भेज सकता है। 

पैसों का यह ट्रांजैक्शन करने के लिए बहुत ज्यादा जानकारी की जरूरत नहीं होती सिर्फ जिसे पैसे ट्रांसफर करने हैं  उस व्यक्ति का नाम, मोबाइल नंबर तथा एड्रेस ही चाहिए होता है। जो भी उपभोक्ता बैंक की मनी ट्रांसफर सेवा का फायदा लेना चाहते हैं उसके लिए यूजर को सर्वप्रथम SBI के सिस्टम पर बेनेफिसिअरी का पंजीकरण करना होता है। 

SBI ने IMT हेतु minimum amount यानी सबसे कम राशि 100 रुपये की तय की है। इसके अलावा बैंक ने मनी ट्रांसफर हेतु हर एक ट्रांजिक्शन के लिए maximum amount यानि अधिकतम राशि 10,000 रुपये तक तय की है। 

आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि SBI बैंक की ऑनलाइन मनी ट्रांसफर सुविधा के अंतर्गत आप अपने डेबिट कार्ड का उपयोग करके किस प्रकार से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। यानि अब आपको पैसे भेजने के लिए बैंक के धक्के खाने की कोई जरूरत नहीं है यह प्रोसेस बिल्कुल आसान तरीके से डेबिट कार्ड द्वारा ही हो जाती है। इस सारी प्रक्रिया को हम कुछ चरणों में समझाने जा रहे हैं तो ध्यान से पढ़िए…

पहला चरण

हर कोई व्यक्ति ऋणदाता के Dabit card का उपयोग करके इंस्टेंट मनी ट्रांसफर सर्विस के द्वारा money transfer कर सकता है। जिस व्यक्ति को धनराशि भेजी जाएगी, वह व्यक्ति लाभार्थी होगा। SBI की इंटरनेट बैंकिंग वेबसाइट के अंतर्गत बताया गया है कि SBI ने लाभार्थियों को यह सुविधा भी प्रदान की है कि वे बिना debit card के ही एसबीआई के किसी भी एटीएम द्वारा उनको प्राप्त हुई नगद राशि बैंक से निकलवा सकते हैं। अर्थात जो व्यक्ति है पैसे निकलवाना चाहता है उसे डेबिट कार्ड की आवश्यकता नहीं पड़ेगी, बिना डेबिट कार्ड के ही पैसे मिल जाएंगे।

यह राशि निकलवाने के लिए उस व्यक्ति को 2 दिनों तक का समय प्रदान किया जाता है, यदि संबंधित व्यक्ति 2 दिनों के भीतर उस राशि को नहीं निकल जाता है तो फिर यह राशि पुनः रिवर्स कर दी जाती है अर्थात जिस व्यक्ति ने पैसे ट्रांसफर किए थे उसके एकाउंट में ही लौटा दी जाती है। लाभार्थी एक बार में प्राप्त की गई अपनी सारी राशि निकलवा सकते हैं।

दूसरा चरण

SBI बैंक की इंस्टेंट मनी ट्रांसफर सेवा (IMT) का उपयोग करने हेतु जिस व्यक्ति के पास आप पैसे ट्रांसफर करवाना चाहते हैं, उसका मोबाइल नंबर, पूरा नाम तथा एड्रेस होना बहुत जरूरी होता है, इस जानकारी के बगैर आप मनी ट्रांसफर नहीं कर सकते हैं। जब लाभार्थी अपने पैसे निकलवाने के लिए एटीएम में जाएगा, तब उसे इसी जानकारी की द्वारा धन राशि निकलवाने में सहायता मिलेगी। SBI में लाभार्थी के रेजिस्ट्रेशन की सुविधा भी दी जाती है। इस सुविधा से पैसे ट्रांसफर करना और भी सरल हो जाता है। रजिस्ट्रेशन करवाने से यह फायदा होता है कि अगले ट्रांजैक्शन के लिए प्रेषक उस लाभार्थी का नंबर, एड्रेस इत्यादि विवरण दिए बिना ही पैसे ट्रांसफर कर सकता है।

तीसरा चरण

SBI की इंस्टेंट मनी ट्रांसफर सर्विस के बारे में एक और खास जानकारी यह है कि इस सेवा के अंतर्गत आप कुछ निश्चित ATM द्वारा ही धनराशि निकाल सकते हैं। यह राशि किस प्रकार से निकलवानी है, उसकी पूरी प्रोसेस हम आपको नीचे दर्शाए कुछ सरल पॉइंट्स के माध्यम से बता रहे हैं :

  • सबसे पहले SBI के ATM की स्क्रीन पर दिए इंस्टेंट मनी ट्रांसफर ऑप्शन को चुनिए।
  • अब पैसे निकलवाने हेतु आपको लाभार्थी का मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा।
  • फिर सेंडर का कोड एंटर कीजिए।
  • अब आपको मोबाइल फोन पर एक SMS मिलेगा, उसमें आया हुआ कोड दर्ज कीजिए।
  • जितनी राशि आप निकालना चाहते हैं, वह दर्ज कीजिए। इसमें आंशिक राशि निकलवाने की अनुमति नहीं होती है।
  • अब आपसे एक बार पुष्टि के लिए पूछा जाएगा, पुष्टि करने हेतु हां के विकल्प को चुनिए।
  • आप जैसे ही हां के विकल्प को चुनेंगे आपका कैश ATM से बाहर आएगा।

चौथा चरण

SBI द्वारा इंस्टेंट मनी ट्रांसफर सर्विस हेतु कम से कम राशि 100 रुपये तय की गयी है। SBI की IMT सेवा के द्वारा आप 100 अथवा उसके मल्टीपल में धनराशि ट्रांसफर कर पाते हैं। साथ ही, SBI द्वारा इंस्टेंट मनी ट्रांसफर सर्विसेज हेतु हर एक ट्रांसेक्शन के लिए अधिकतम राशि 10,000 रुपये तक तय की है। SBI के अनुसार, प्रत्येक लाभार्थी हेतु हर महीने लागू सीमा राशि 25,000 रुपये है। एक कैलेंडर माह के अंतर्गत प्रत्येक प्रेषक के लिए अधिकतम राशि 50,000 रुपये तय की गई है तथा अधिक से अधिक 10 लाभार्थियों तक आप धनराशि ट्रांसफर करवा सकते हैं।

पांचवा चरण

SBI अपनी IMT सेवा के लिए सेंडर यानि जो व्यक्ति धनराशि भेजता है उस व्यक्ति से प्रत्येक ट्रांजैक्शन हेतु ₹25 की फीस लेता है। अर्थात एसबीआई की IMT सेवा मुफ्त उपलब्ध नहीं है इसमें आपको अपने हर ट्रांजैक्शन के लिए शुल्क देना आवश्यक होता है। धनराशि प्राप्त करने वाले व्यक्ति को कोई भी शुल्क नहीं देना होता है।

लाभार्थी (बेनेफिसिअरी) को किस प्रकार से जोड़ें?

जब आप SBI की ऑनलाइन वेबसाइट पर जाएंगे तो सबसे पहले आपको लॉगिन करना होगा, लॉगिन करते ही आपको  ‘मैनेज बेनेफिसिअरी’ नामक विकल्प दिखेगा। इस विकल्प के अंतर्गत ‘आईएमटी बेनेफिसिअरी’ के ऑप्शन पर क्लिक कीजिए और आप लाभार्थी को जोड़ सकते हैं।

एक और जानने योग्य बात यह भी है कि, अगर SBI यूजर सुबह 6:00 बजे से लेकर शाम को 8:00 बजे तक किसी बेनेफिसिअरी को जोड़ देता है, तो बैंक उसको 4 घंटे के अंदर ही एक्सेप्ट कर देता है। इस समय अवधि के पश्चात जो बेनेफिसिअरी जोड़े जाते हैं, उन को बैंक दूसरे दिन सुबह 8:00 बजे के बाद में ही एक्सेप्ट करता है।

Leave a Comment