Restaurant business plan in india

हमारे देश में खानपान से जुड़े व्यापार की डिमांड सबसे ज्यादा रहती है क्योंकि  स्वादिष्ट और  वैरायटी फूड खाना हर इंसान को पसंद होता है। इसके साथ ही  आजकल  ऑनलाइन  फूड डिलीवरी  भेजना भी बहुत ज्यादा चल रहा है  क्योंकि लोगों को घर बैठे ही उनके पसंदीदा रेस्टोरेंट उनकी पसंद की डिशेज मिल जाती है अतः यह बिजनेस बहुत विस्तृत होता जा रहा है। भविष्य में भी इस बिजनेस के और अधिक बढ़ने की संभावनाएं है। यदि आप भी अपना कोई बिजनेस स्टार्ट करने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको रेस्टोरेंट खोलना चाहिए, जोकि निश्चित रूप से आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

हम सब भी दिन में कई बार खाना खाते हैं और खाना अगर अपनी पसंद का और टेस्टी हो तो फिर बात ही क्या? यही कारण है कि रेस्टोरेंट के बिज़नस में बहुत मुनाफा कमाया जा सकता है। शुरुआत में आपको बहुत ज्यादा वैरायटी रखने की भी जरूरत नहीं है आप दो-चार खाने के आइटम से भी अपना बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं, हां बस आप के यह फूड आइटम्स लोगों को पसंद आना चाहिए। इस भेजना से जुड़ी सारी जानकारी हम आपको यहां देने जा रहे हैं तो आर्टिकल को शुरू से अंत तक ध्यान से पढ़िए ताकि आपको अपना रेस्टोरेंट बिज़नेस स्टार्ट करने में कोई परेशानी ना हो।

प्रॉपर बिजनेस प्लानिंग

हर किसी बिजनेस के लिए प्रॉपर प्लानिंग की जरूरत होती है। एक बिजनेस प्लान आपके रेस्टोरेंट से जुड़ी सभी आवश्यक चीजों के बारे में रुपरेखा तैयार कर देगा जिनके द्वारा आपका बिजनेस कामयाब हो सकेगा। जब आप अपने बिजनेस के लिए रिसर्च करके पूरी प्लानिंग करेंगे तभी आपको इसमें आगे आने वाली कई प्रकार की दिक्कतों के बारे में जानकारी मिलेगी जिसके बारे में आपको पहले पता नहीं था पहले से पता होने की वजह से आप इन दिक्कतों का हाल भी पहले ही ढूंढ के रख सकते हैं। आते अगर आप अपने रेस्टोरेंट बिजनेस को सक्सेसफुल बनाना चाहते हैं तो उसके लिए मार्केट रिसर्च कीजिए और फिर प्रॉपर प्लानिंग बनाइये। चाहे आपको यह प्लानिंग करने में एक महीना ही ना क्यों ना लग जाए लेकिन अपने स्ट्रेटजी बनाकर वर्क कीजिए।

तय कीजिए किस तरह का रेस्टोरेंट खोलना है 

रेस्टोरेंट बिजनेस के लिए आपको प्लानिंग करने के बाद यह तय करना होगा कि आप किस तरीके का रेस्टोरेंट्स खोलना चाहते हैं  जैसे वेज रेस्टोरेंट,  नॉन वेज रेस्टोरेंट, फास्ट फूड रेस्टोरेंट, डाइनिंग रेस्टोरेंट इत्यादि। आप अपने एरिया के अनुसार और लोकेशन देख कर उसके अनुसार भी तय कर सकते हैं कि कौन सा रेस्टोरेंट खोलना ज्यादा ठीक रहेगा। आप लोगों से मिलिए, जो कि इस फील्ड में है और सक्सेसफुली अपना बिजनेस कर रहे हैं तथा उन से पता कीजिए कि कौन सा रेस्टोरेंट्स खोलना ज्यादा बेहतर रहेगा। हां लेकिन यह ध्यान रखिए कि आप जिस व्यक्ति से जानकारी ले रहे हैं वह आपकी लोकेशन में रहने वाला व्यक्ति नहीं होना चाहिए, या फिर उसे अपनी लोकेशन न बताएं, वरना वह आपको ठीक प्रकार से जानकारी नहीं देगा क्योंकि आप की लोकेशन में रहने वाला रेस्टोरेंट्स बिजनेसमैन आपका प्रतिद्वंदी होगा इसलिए वह नहीं चाहेगा कि कोई और रेस्टोरेंट यहां खुले और उसके ग्राहक कम हों।

अपने रेस्टोरेंट का अच्छा सा नाम सोचिए

आपके रेस्टोरेंट का नाम बहुत अच्छा होना चाहिए  क्योंकि रेस्टोरेंट के नाम से भी कई ग्राहक उसकी ओर आकर्षित होते हैं और रेस्टोरेंट में खींचे चले आते हैं। अतः आपके रेस्टोरेंट का नाम रचनात्मक व यूनिक होना चाहिए। साथ ही यह नाम आपके रेस्टोरेंट्स के प्रकार, आपके मैन्यू और आपके कांसेप्ट के साथ भी मिलता हुआ होना चाहिए। आपको इस बात का भी विशेष ध्यान रखना होगा कि रेस्टोरेंट का नाम ऐसा होना चाहिए, जिसे बोलने में आसानी हो और आपके ग्राहक उसे अच्छे से याद रख सकें। याद रखें कि आपके रेस्टोरेंट का नाम ऐसा होना चाहिए जिसे आपके कस्टमर्स आसानी से याद रख सकें और उसे बोलने में उन्हें कोई परेशानी न हो। एक अच्छा और आसान नाम पसंद कीजिए जो कि आपके रेस्टोरेंट को सफलता दिलाएगा।

कितना इन्वेस्टमेंट करना होगा 

अब जब बात आती है रेस्टोरेंट खोलने की तो सबसे पहले आपको यही  माइंड में आएगा कि इसमें कितना खर्च आएगा यानी कितना इन्वेस्टमेंट करना होगा। हम आपको रेस्टोरेंट में  जो  अति आवश्यक चीजें चाहिए होंगी उसे एक लिस्ट बनाकर यहां बता रहे हैं जिसे देख कर आपको अंदाजा आ जाएगा कि इस बिजनेस में कितना खर्च आएगा।

  • दुकान/ स्थान का किराया 
  • पानी की व्यवस्था
  • रसोईघर का सामान
  • बर्नर
  • रेफ्रिजरेटर
  • बर्तन
  • कच्चा माल (आटा,चावल,मैदा इत्यादि)
  • ग्रोसरी आइटम
  • काउंटर
  • कुर्सियां व टेबल
  • सजावट खर्च
  • मेनू प्रिंटिंग
  • एडवरटाइजिंग
  • स्टाफ

इस लिस्ट से आप अनुमान लगा पाएंगे कि रेस्टोरेंट्स के लिए कितना खर्च आएगा। लगभग 60000-70000 रुपये तक खर्चा तो केवल स्टाफ पर ही हो जाएगा, क्योंकि इस बिजनेस में कस्टमर्स को हैंडल करने के लिए अधिक व्यक्तियों की जरूरत होती है। हम दुकान का किराया 30000 भी मान कर चले तो रेस्टोरेंट का हर महीने का कुल खर्च अथवा इन्वेस्टमेंट 1.5 lakhसे 2 lakh तक का होगा। 

रेस्टोरेंट के लिए परफेक्ट लोकेशन चुनिए 

आप अपने रेस्टोरेंट में कितना ही अच्छा और क्वालिटी फ़ूड क्यों ना प्रोवाइड करते हों, चाहे आप अपने कस्टमर्स को फ़ास्ट सर्विस भी देते हों, लेकिन यदि आपके रेस्टोरेंट की लोकेशन सही नही होगी तो आपका बिज़नेस नहीं चलेगा, और बार बार लोकेशन बदली तो नहीं जा सकती है।

आपका रेस्टोरेंट किस स्थान पर है, इसी बात पर उस रेस्टोरेंट की  कामयाबी डिपेंड करती है। जिस प्रकार से रेस्टोरेंट का खाना और सर्विस का ध्यान देना जरूरी होता है, उसी तरह रेस्टोरेंट किस जगह पर है यह भी इस बिज़नेस का बहुत आवश्यक पहलू है। अगर आप चाहते हैं कि आपका रेस्टोरेंट बिजनेस अच्छा चले तो आपको ऐसी लोकेशन सेलेक्ट करनी होगी, जहां से रेस्टोरेंट लोगों की नजर में आए और कस्टमर्स वहां सुविधा से पहुंच भी पाएं।

अतः कोशिश यही कीजिए की भीड़ भाड़ वाले एरिया में ही अपना रेस्टोरेंट खोलें। फिर यदि आप अपने ग्राहकों को अच्छी सर्विसेज देंगे तो वे अगली बार भी आपके ही पास आएंगे। आपको अपने एरिया के अन्य सभी रेस्टोरेंट से बेहतर सर्विसेज प्रदान करने का प्रयास करना होगा। तब वे स्वतः ही आपके पास चले आएंगे।

रेस्टोरेंट की Marketing

हर किसी बिजनेस के लिए मार्केटिंग करना बहुत आवश्यक होता है  मार्केटिंग से आपका बिजनेस बुलंदियों को छू सकता है क्योंकि यही एक जरिया है जिससे  लोगों को आपके बिजनेस के बारे में पता चलता है। आप मार्केटिंग के लिए पेम्पलेट छपवा सकते हैं, पोस्टर छपवा सकते हैं, अखबारों में अपने रेस्टोरेंट का इश्तेहार दे सकते हैं, इसके अलावा होर्डिंग बोर्ड भी लगवा सकते हैं। आप चाहे तो  आपके लोग कल  रेडियो चैनल से भी संपर्क करके  और अपने रेस्टोरेंट की ओपनिंग के बाद कोई अच्छी सी स्कीम रखकर  ग्राहकों को वहां आने के लिए आमंत्रित कर सकते हैं। इन सभी कार्यों के लिए आप अपने पास की किसी एडवरटाइजिंग एजेंसी से कांटेक्ट करके अपने रेस्टोरेंट की ओपनिंग से कुछ दिन पहले इश्तेहार देना स्टार्ट कीजिए।

इंटरनेट के द्वारा लोगों को बताइए

आजकल इंटरनेट पब्लिसिटी का बहुत बड़ा प्लेटफॉर्म बन गया है  इसलिए  आप इंटरनेट पर पोस्ट करके अपने रेस्टोरेंट की मार्केटिंग कर सकते हैं, साथ ही ब्लॉग पर कमेंट लिखने वालों के साथ चैट चैट करके अपने रेस्टोरेंट के बारे में और उसकी विशेषताओं के बारे में चर्चा कर सकते हैं। आप इंटरनेट पर विभिन्न स्कीम पोस्ट करके अपने रेस्टोरेंट में ग्राहकों को आकर्षित कर सकते हैं। इस प्रकार से इंटरनेट के द्वारा भी आप अपने कस्टमर बढ़ा सकते हैं। 

रेस्टोरेंट के लिए लाइसेंस

रेस्टोरेंट खोलने के लिए आपको सरकार से लाइसेंस लेना आवश्यक होता है। इस लाइसेंस के लिए कितनी कीमत लगेगी वह आपके रेस्टोरेंट की साइज पर डिपेंड करता है। यदि आप चाहते हैं कि आप के रेस्टोरेंट के संचालन में किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं आए तो आपको उसी समय लाइसेंस के लिए आवेदन कर देना चाहिए जब आप रेस्टोरेंट की प्लानिंग कर रहे हो क्योंकि यह लाइसेंस मिलने में समय भी लग सकता है   

 रेस्टोरेंट्स खोलने के लिए FSSAI (food safety and standard authority of india) से परमिट लेनी होती है, साथ ही राज्य के  department of commercial tax द्वारा TIN number भी लेना होगा।

रेस्टोरेंट का इंटीरियर डेकोरेशन

रेस्टोरेंट की ओपनिंग से पूर्व ही आपको यह डिसाइड कर लेना होता है कि आपके इस तरह का रेस्टोरेंट खोलने वाले हैं और उसमें कौन से प्रकार का खाना रखने वाले हैं। जय निश्चित कर लेने के बाद आपको उसी के अनुसार अपने रेस्टोरेंट के लिए इंटीरियर डिजाइन करना होगा। वैसे यह पूर्णता आप पर निर्भर करता है कि आप रेस्टोरेंट में  अंदर की सजावट करना पसंद करते हैं या नहीं। यह इंटीरियर डेकोरेशन का कार्य  कितने रूपों में होगा यह आप की पसंद पर निर्भर करता है  यदि आप साधारण डेकोरेशन करें तो आपको पांच से ₹10000 तक खर्च करने होंगे  और यदि आप  यह डेकोरेशन बहुत अच्छा  करना चाहते हैं तो यह कीमत करोड़ों तक भी  जा सकती है अतः आपको किस तरीके का डेकोरेशन करना है यह आपको निश्चित करना होगा।

रेस्टोरेंट का Menu

जब आप रेस्टोरेंट के लिए  प्लानिंग कर रहे हो तब भी आपको  इसके लिए मेन्यू बना लेना चाहिए। इस मैन्यू में आप कई सारे  विभिन्न वैरायटी के फूड आइटम्स जोड़िए। फूड आइटम्स ऐसे हो जो टेस्टी हो और कस्टमर्स को पसंद आए। यदि आप वह डिश प्रोवाइड करने जा रहे हैं जो अन्य रेस्टोरेंट में भी मिलती है तो फिर आपको अपना स्वाद और डिश की प्रेजेंटेशन उनसे बेहतर करना होगा। तब ही आपके कस्टमर्स उसे ऑर्डर करना पसंद करेंगे।

मान लीजिए, आपने अपने रेस्टोरेंट के लिए सारी तैयारियां ठीक से कर दी हैं, लेकिन अगर आपने सही में मेन्यू का चयन नहीं किया तो आपकी सारी प्लानिंग बिगड़ जाएगी अतः मेन्यू का चयन करने के लिए आप अपने एरिया के प्रसिद्ध रेस्टोरेंट में जाकर देखें कि उनके मैन्यू में कौन-कौन से आइटम है आप भी उन आइटम्स को अपने मैन्यू में रखिए और कुछ ऐसे आइटम्स भी रखिए, जो यूनीक आइटम हो यानी सिर्फ आपके ही रेस्टोरेंट में मिल सके, ताकि ग्राहकों को आपके ही पास है वह डिशेस लेनी पड़े, और हां आप की रेट लिस्ट भी अन्य रेस्टोरेंट के मुकाबले ज्यादा नहीं होने चाहिए।

रेस्टोरेंट के लिए ट्रेंड स्टाफ 

कोई भी रेस्टोरेंट कितना चलेगा यह उसके शेफ पर भी निर्भर करता है। अगर आप अच्छा शेफ रखते हैं तो कस्टमर स्कोर आपके रेस्टोरेंट का खाना पसंद आएगा और आपका रेस्टोरेंट चाल पड़ेगा लेकिन अगर आपका शेफ सही नहीं है तो आपका रेस्टोरेंट नुकसान में जा सकता है। अतः सही शेफ का चयन कीजिए। आपको कुक के साथ एक अन्य हेल्पर भी उसके साथ रखना होगा क्योंकि अगर कभी कुक रेस्टोरेंट में किसी वजह से ना आ पाए तो वह हेल्पर कुक के स्थान पर सारा काम संभाल सके। 

अपने रेस्टोरेंट्स के बिजनेस को सफल बनाने के लिए आपको अच्छे और ट्रेंड स्टाफ की जरूरत होगी। आपको अच्छे चैट के साथ साथ बेहतर स्टाफ भी रखना होगा जो आपके रेस्टोरेंट का दूसरा काम जैसे कि कस्टमर्स को हैंडल करना और उन्हें खाना प्रोवाइड करना इत्यादि काम कर सके। आप तो अपने स्टाफ को ट्रेनिंग भी देनी होगी ताकि वह कस्टमर से अच्छा व्यवहार करें और उन्हें खुश रखें।

अगर आप अपने स्टाफ को अपने रेस्टोरेंट्स के लोगों वाली ड्रेस देते हैं तो उससे और अच्छा प्रभाव पड़ेगा हां लेकिन वह ड्रेस हमेशा साफ-सुथरी होनी चाहिए।

पर्याप्त कर्मचारी रखिए

अगर आपका रेस्टोरेंट अच्छा चलने लग जाता है तो आपको अधिक कर्मचारियों की जरूरत होगी खासकर आपको ज्यादा बेटर चाहिए होंगे। वरना आपके कस्टमर्स को अगर समय पर आर्डर किया गया खाना नहीं मिला तो वह नाराज हो सकते हैं और अन्य किसी रेस्टोरेंट में भी जा सकते हैं अतः आपको अपने रेस्टोरेंट में टेस्ट के साथ बेस्ट सर्विस प्रोवाइड करने का ध्यान रखना होगा। आपको समय-समय पर अपने स्टाफ़ काम करने हेतु प्रोत्साहित करना चाहिए और अच्छा कार्य करने वालों की तारीफ भी कीजिए ताकि वह अपना कार्य और अच्छी तरीके से करें और छुट्टियां कम लें। 

कस्टमर्स से फीडबैक लीजिए

कई बड़े बड़े ब्रांड्स के रेस्टोरेंट ऐसे हैं जो अच्छे कस्टमर सर्विस की वजह से जाने जाते हैं और इसी वजह से कस्टमर उनके पास जाना पसंद भी करते हैं। आप भी अपने रेस्टोरेंट में कस्टमर्स का एक मेहमान की तरह स्वागत कीजिए और बाद में उनसे फीडबैक भी लीजिए।

Leave a Comment