msme loan for new business in India

Hello दोस्तो , Indian Theme पे आपका स्वागत हैं . आज हम आपके लिए लेकर आये हैं MSME loan for new business के बारे मे सारी जानकारी और हमें भारोसा हैं की इस Blog को पढने के बाद आपको और कही जाने की ज़रुरत नही पड़ेगी.

तो अयिये दोस्तो शुरू करते हैं indiantheme.In पर ये काफी informative MSME loan for new business Blog.

MSME क्या है? What kind of business comes under MSME?

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (Micro, Small and Medium Enterprise) अपने देश में रोजगार(Employment) एवं अर्थव्यवस्था (Economics) की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण कड़ी है। Micro, Small and Medium Enterprise Bill- 2005 (जो 12 मई, 2005 को संसद में प्रस्तुत किया गया था) को राष्ट्रपति द्वारा स्वीकृति मिलने के बाद MSME-2006 अधिनियम बना दिया गया। इस अधिनियम को सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विकास अधिनियम, 2006 नाम दिया गया है।

MSME एक उद्यम सेक्टर है। यह सेक्टर दो तरह का है।

  1. Service Sector
  2. 2- Manufacturing Sector

जिस Sector में सेवा प्रदान करने का काम होता है वह Sector, Service Sector कहा जाता है और जिस Sector में Product बनाने का काम होता है उसे Manufacturing Sector के नाम से जाना जाता है।

MSME की Definition क्या है?

MSME की Definition निम्नलिखित हैः

Micro Enterprise की परिभाषा

1 करोड़ तक Investment और 5 करोड़ तक के Turnover वाले Enterprise को सूक्ष्म उद्योग यानी Micro Enterprise का दर्जा दिया गया है। Manufaturing और Service. दोनों सेक्टर।

Small Enterprise की परिभाषा

10 करोड़ तक का Investment और 50 करोड़ के Turnover वाले Enterprise को Small Unit (लघु उद्योग) माना गया है।Manufaturing और Service. दोनों सेक्टर।

Medium Enterprise की परिभाषा

30 करोड़ तक का Investment और 100 करोड़ के Turnover वालों को Medium Enterprise (मध्यम उद्योग) माना गया है। Manufaturing और Service दोनों सेक्टर

MSME loan for new business क्या होता है? What Is MSME loan for new business.

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (Micro, Small and Medium Enterprise) Sector के Business का संचालन सही तरीते से हो सके, इसके लिए केन्द्र सरकार प्रयासरत है। इसी क्रम में MSME कारोबारियों का सहज तरीके से MSME loan for new business मुहैया कराने का प्रयास किया जाता है।

New MSME को प्रदान किया जाने वाले लोन को MSME Loan for new business कहते हैं। MSME loan for new business देश के सभी सरकारी और प्राइवेट बैंको के साथ ही गैर बैंकिंग संस्थान यानी एनबीएफसी (NBFC) कंपनी से मिलता है।

MSME loan for new business कैसे मिलता है? How can I get a loan under MSME scheme for new business?

जिस प्रकार से अन्य Loan मिलता है ठीक उसी प्रकार से MSME loan for new business मिलता है।

कहने का मतलब यह है कि MSME loan for new business के लिए भी एक तय प्रक्रिया का पालन करके उचित माध्यम से Apply करना होता है।

Who is eligible for MSME loan?

Loan Apply करने से पहले पात्रता (Eligibility) की जांच करना और जरुरी कागजात इक्कठा करना अनिवार्य होता है।

जब पात्रता की जांच कर लेते हैं और MSME loan for new business के लिए जरुरी कागजातों को इकठ्ठा कर लेते हैं तो MSME loan for new business के लिए आवेदन कर देना होता है।

MSME loan for new business के लिए online और offline दोनों माध्यमों से आवेदन किया जाता है।

MSME loan for new business के लिए आवेदन किस तरह होगा यह पूरी तरह से लोन देने वाले Bank या NBFC के ऊपर निर्भार करता है।

MSME loan for new business किसे मिलता है- पात्रता क्या है? MSME loan eligibility for new business.

MSME loan for new business के लिए Apply करने के लिए सबसे पहले पात्रता की जांच कर लेना जरुरी होता है। क्योंकि पात्रता से ही यह पता चल जाता है कि MSME loan for new business मिलेगा या नहीं मिलेगा। MSME

loan for new business के लिए सभी बैंको द्वारा अलग – अलग पात्रता मापदंड़ो का पालन किया जाता है। हालांकि पात्रता में बहुत अंतर नहीं होता है। कुछ पात्रता भी की एक जैसी होती है। पात्रता मापदंड़ कुछ इस तरह का होता हैः

1. आवेदक की उम्र 18 वर्ष – 75 वर्ष के बीच हो

2. CA प्रमाणित / Audited Balance Sheet होना चाहिए

3. जिस Business के लिए Loan आवेदन किया जा रहा हो उस Business की प्रकृति प्रोपराइटरशिप / पार्टनरशिप / प्राइवेट लिमिटेड कंपनी / लिमिटेड कंपनी / LL की हो।

अगर आप कोई MSME चला रहे हैं तो MSME Business Loan के आवेदन के वक्त आपको कुछ बातें ध्यान रखनी चाहिए. हम इनके बारे में बता रहे हैं. ये 2 लाख से 50 लाख रुपये के Business loan के संबंध में हैं.

अच्छा क्रेडिट स्कोर (Credit Score)

आपका Credit Score आपकी साख है. यह बताता है कि Loan के भुगतान में पहले आपका रवैया कैसा रहा है. यानी आपने किस तरह से Loan की अदायगी की. इसे देखकर कर्जदाताओं के पास loan मंजूर करने के संबंध में एक खाका तैयार हो जाता है.

लिहाजा, अच्छे Credit Score को बनाए रखना बहुत जरूरी है. कुछ वित्तीय संस्थान तो Credit Score वाले ग्राहकों को बेहतर दरों पर MSME loan for new business की पेशकश करते हैं.

GST और अन्य आवश्यक रजिस्ट्रेशन

GST और अन्य तरह के कानूनी रजिस्ट्रेशन अनुपालन संबंधी जांच में मदद करते हैं. उन बिजनेस को बैंक MSME loan for new business देने में ज्यादा सहज महसूस करते हैं जो कानूनी ढांचे में आते हैं.

Financial Stament का ऑडिट

ऑडिट किए हुए फाइनेंशियल स्टेटमेंट लोन की मंजूरी में सहूलियत देते हैं. इनसे बैंक या वित्तीय संस्थानों को यह पता लगाने में मदद मिलती है कि कारोबार का प्रबंधन कितनी अच्छी तरह से हो रहा है. कारोबार मुनाफे में है तो कर्जदाता लोन देने में ज्यादा दिलचस्पी लेंगे.

मुनाफे और Tax का रिकॉर्ड.

कारोबार मुनाफे में है तो यह दिखाता है कि उस कंपनी के पास loan चुकाने के लिए पर्याप्त पैसा है. इस तरह मुनाफे और Tax चुकाने में नियमितता का असर पड़ता है. इससे तय होता है कि आपको कितना बड़ा loan दिया जा सकता है.

Bank Statement.

कर्जदाता आपके Bank खाते का भी आकलन करते हैं. यह दिखाता है कि बिक्री से Business में कितना Cash Flow हुआ. इससे Loan, EMI आदि के संबंध में देनदारी का भी पता लगता है. Technology के कारण अब Bank transaction की समीक्षा संभव हो गई है. इससे MSME loan for new business की loan अदायगी की क्षमता का पता लगाया जा सकता है. आज कई Fintech कंपनियां और Bank Loan की मंजूरी में इस तरह की Technology का इस्तेमाल कर रही हैं.

अपने मौजूदा Bank से संपर्क करें.

MSME loan for new business के लिए सबसे पहले उस Bank से ही संपर्क करें जहां आपका Saving या Current Account खुला है. इस Bank के पास आपके तमाम लेनदेन का बना-बनाया ब्योरा होता है. इसके लिए उन्हें किसी मशक्कत की जरूरत नहीं पड़ती है. इस तरह बेहतर शर्तों के साथ वह Loan की पेशकश कर सकता है.

कितना टिकाऊ है Business? Business Plan.

कोई Business कितना टिकाऊ है यह कई बातों पर निर्भर करता है. ग्राहकों की संतुष्टि, Growth strategy और बाजार की समझ, इसमें प्रमुख हैं. इन मानकों पर कोई कारोबार जितना खरा होगा, वह उतना ही टिकाऊ होगा. आज बिना Credit History वालों को भी MSME loan for new business लोन मिल सकता है. यह अलग बात है कि यह महंगा होता है. बिजनेस जितना पुराना होगा MSME loan उतनी आसानी से मंजूर होता है.

वास्तविक अनुमान

MSME loan for new business लेने के लिए भविष्य के अनुमानों और विस्तार की योजनाओं को वास्तविक होना चाहिए. इसके पक्ष में उचित अनुमान रखने चाहिए. वाजिब अनुमान MSME loan for new business अदा करने की आपकी विश्वसनीयता को दिखाते हैं.

लंबी अवधि

जरूरी नहीं है कि आप उतना loan लें जितने की पेशकश Bank कर रहा हो. बजाय इसके जरूरत के अनुसार Loan के लिए आवेदन करें. आप उस अवधि पर भी विचार कर लें जिसमें इसका भुगतान करना है. Loan की अवधि ऐसी रखें जिससे आप आसानी से loan का भुगतान कर पाएं.

पैसों का इस्तेमाल

Business के लिए मिली लोन की रकम को केवल उसमें ही इस्तेमाल किया जाना चाहिए. MSME loan for new business की Processing के समय Bank इस बात पर खास जोर देते हैं कि Loan की रकम कैसे इस्तेमाल की जाएगी. इस पैसे के उपयोग को लेकर वे काफी सतर्क रहते हैं. जिम्मेदारी से Loan अदा करते हैं तो लंबी अवधि में अच्छी साख बन जाएगी. इससे भविष्य में Loan मिलने की संभावना बढ़ेगी. इन बातों को ध्यान में रखकर अपने MSME Business को आप बढ़ा सकते हैं.

किस योजना में MSME loan for new business मिलता है?

MSME loan for new business के द्वारा केन्द्र सरकार का प्रयास है कि देश में स्वरोजगार का माहौल खड़ा किया जाये। इसी के चलते तमाम ऐसी योजनाएं सरकार द्वारा संचालित की जा रहीं हैं जिसमें MSME loan for new business दिया जाता है। जिन सरकारी Loan योजनाऔं में MSME loan for new business मिलता है, वह योजनाएं निम्न हैः

माइक्रो – क्रेडिट योजना

मुद्रा कार्ड

क्रेडिट गारंटी फण्ड

इक्विपमेंट फाइनेंस योजना

केंद्र सरकार ने छोटे उद्यम शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) शुरू की है. इसके तहत लोगों को अपना उद्यम (कारोबार) शुरू करने के लिए छोटी रकम का लोन दिया जाता है. यह योजना अप्रैल 2015 में शुरू हुई थी.

क्या है मुद्रा योजना (PMMY) का मकसद?

केंद्र सरकार की मुद्रा योजना (PMMY)के दो उद्देश्य हैं. पहला, स्वरोजगार के लिए आसानी से लोन देना. दूसरा, छोटे उद्यमों के जरिए रोजगार का सृजन करना.

PMMY/Mudra Yojana:

केंद्र सरकार ने मुद्रा लोन के तहत 50 हजार रुपये तक के लोन लेने वाले लाभार्थियों को ब्याज दर में 2 फीसद की छूट पाने को मंजूरी दे दी है. शिशु योजना के तहत 9 करोड़ 35 लाख लोगों को इस फैसले से राहत मिलेगी. यह 1 जून 2020 से प्रभावी है और 31 मई 2021 तक जारी रहेगी. हालांकि मुद्रा लोन में शिशु लोन के अलावा 2 कटेगिरी और है. किशोर लोन और तरुण लोन. इसके तहत 50 हजार से 5 लाख और 5 लाख से 10 लाख रुपये तक का लोन सरकार कारोबार शुरू करने के लिए देती है. आप भी जानना चाहेंगे कि मुद्रा लोन कैसे मिल सकता है. हम इसके बारे में यहां जानकारी दे रहे हैं.

कौन ले सकता है PMMY के तहत लोन

कोई भी भारतीय नागरिक जो अपना कारोबार शुरू करना चाहता है, वह PMMY के तहत लोन ले सकता है. अगर आप मौजूदा कारोबार को आगे बढ़ाना चाहते हैं और उसके लिए पैसे की जरूरत है तो आप प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 10 लाख रुपये तक के लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं. यह योजना अप्रैल 2015 में शुरू हुई थी.

3 तरह के लोन

शिशु लोन : शिशु लोन के तहत 50,000 रुपये तक के लोन दिए जाते हैं.

किशोर लोन: किशोर लोन के तहत 50,000 से 5 लाख रुपये तक के लोन दिए जाते हैं.

तरुण लोन: तरुण लोन के तहत 5 लाख से 10 लाख रुपये तक के लोन दिए जाते हैं.

कैसे ले सकते हैं PMMY लोन

मुद्रा योजना (PMMY) के तहत लोन के लिए आपको सरकारी या बैंक की शाखा में आवेदन देना होगा. अगर आप खुद का कारोबार शुरू करना चाहते हैं तो आपको मकान के मालिकाना हक या किराये के दस्तावेज, काम से जुड़ी जानकारी, आधार, पैन नंबर सहित कई अन्य दस्तावेज देने होंगे. मुद्रा योजना की वेबसाइट पर उन सभी बैंकों की डिटेल मिल जाएगी, जिसमें ये लोन दिए जा रहे हैं. फॉर्म आनलाइन भी डाउनलोड किया जा सकता है.

Step to step. Online processing.

https://www.mudra.org.in/ वेबसाइट पर Loan application form download करें.

शिशु लोन के लिए form अलग है, जबकि तरुण और किशोर लोन के लिए form एक ही है.

Loan application form में सारी जानकारियां भरें.

सही mobile number, आधार नंबर, नाम, पता आदि की जानकारी दें.

business कहां शुरू करना चाहते हैं, जानकारी दें.

OBC, SC / ST श्रेणियों के तहत आने वाले आवेदकों को जाति प्रमाण पत्र प्रदान करना होगा.

2 पासपोर्ट फोटो लगाएं.

फॉर्म भरने के बाद किसी भी सार्वजनिक या प्राइवेट बैंक में जाएं और सभी प्रक्रियाओं को पूरा करें.

सारे डॉक्यूमेंट जमा करें.

Bank का Branch Manager आपसे कामकाज से बारे में जानकारी लेता है. उस आधार पर आपको PMMY लोन मंजूर करता है.

जरूरी Documents

पहचान प्रमाण पत्र

आवास प्रमाण

मशीनरी आदि की जानकारी

पासपोर्ट साइज फोटो

बिजनेस प्रमाण पत्र

बिजनसे पते का प्रमाण

व्यापार के प्रकार

सेल्फ-प्रोपराइटर

पार्टनरशिप

सर्विस सेक्टर की कंपनियां

माइक्रो उद्योग

मरम्मत की दुकानें

ट्रकों के मालिक

खाने से संबंधितव्यवसाय

विक्रेता (फल और सब्जियां)

माइक्रो मैन्युफैक्चरिंग फर्म्स

क्या हैं ब्याज दरें?

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अलग अलग बैंक में ब्याज दरें अलग अलग हो सकती हैं. अलग अलग बैंक मुद्रा लोन के लिए अलग ब्याज दर वसूल सकते हैं. लोन लेने वाले के कारोबार की प्रकृति और उससे जुड़े जोखिम के आधार पर भी ब्याज दर निर्भर करती है. आम तौर पर न्यूनतम ब्याज दर 12 फीसदी है.

MSME loan for your brand new small business

SBI e-Mudra

SBI के मौजूदा ग्राहक जो बचत बैंक या चालू खाता धारक हैं, वे 1,00,000 रुपये तक के e-Mudra लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

स्टेप 1: कृपया आवेदन फॉर्म भरने के लिए ड्रॉप डाउन मेनू से चयन करें

स्टेप 2: https://emudra.sbi.co.in:8044/emudra पर क्लिक करें और ‘Proceed’ पर क्लिक करें

स्टेप 3: कृपया UAIDI के माध्यम से E-KYC के लिए आवेदक का आधार कार्ड प्रदान करें, क्योंकि E-KYC और ई-साइन को लोन प्रोसेसिंग और डिस्बर्सल के लिए OTP वैरिफिकेशन के माध्यम से पूरा करना होगा

स्टेप 4: एक बार लोन की औपचारिकताएं पूरी हो जाने के बाद, आवेदक को एक SMS प्राप्त होगा जो ई-मुद्रा पोर्टल को फिर से जारी करके आगे की प्रक्रिया शुरू करने के लिए कहेगा।

स्टेप 5: लोन स्वीकृति के SMS प्राप्त होने के बाद इस प्रक्रिया को 30 दिनों के भीतर पूरा करने की आवश्यकता है

नोट: आवेदक को केवल 2MB की अधिकतम फ़ाइल आकार के साथ दस्तावेज़ को JPEG, PDF या PNG प्रारूप में अपलोड करने की आवश्यकता होती है।

SBI e-Mudra लोन योग्यता

  • आवेदक एक सूक्ष्म उद्यमी होना चाहिए
  • कम से कम 6 महीने पुराना SBI का चालू या बचत खाता होना चाहिए
  • 1 लाख रुपये तक की अधिकतम लोन राशि
  • अधिकतम भुगतान अवधि 5 वर्ष तक है
  • बैंक के विवेक के अनुसार 50,000 रुपये की तत्काल लोन उपलब्धता
  • 50,000 रुपये से ऊपर की लोन राशि के लिए , लोन औपचारिकताओं के लिए आवेदक को SBI की निकटतम बैंक शाखा आना होगा

SBI e-Mudra लोन के लिए ज़रूरी दस्तावेज

  • बचत / चालू खाता संख्या और बैंक शाखा का विवरण
  • व्यवसाय का प्रमाण (नाम, शुरू करने की तिथि और पता)
  • UIDAI- आधार नंबर (बैंक अकाउंट के साथ अपडेट होना चाहिए)
  • सामुदायिक विवरण (सामान्य / एससी / एसटी / ओबीसी / अल्पसंख्यक)
  • अपलोड करने के लिए अन्य जानकारी जैसे: GSTN और UDYOG आधार
  • दुकान और प्रतिष्ठान और बिज़नेस रजिस्ट्रेशन का प्रमाण

SBI मुद्रा लोन योग्यता

  • आवेदक को गैर-कृषि आय करने वाली गतिविधि में, विनिर्माण क्षेत्र में या सेवा क्षेत्र सें जुड़ा होना चाहिए।
  • आवेदक एक व्यक्ति या एक छोटी व्यवसाय इकाई होना चाहिए।
  • आवेदक को व्यवसाय योजना प्रस्तुत करने की आवश्यकता है और इसके लिए क्रेडिट आवश्यकता 10 लाख सें अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • आवेदक को किसी भी फाईनेंस संस्थान का डिफॉल्टर ना हो।

MSME loan for startup business.

अगर आप भी अपना कारोबार शुरू करने के लिए पूंजी की समस्या का सामना कर रहे हैं तो केंद्र सरकार की PMMY से आप अपने सपने को साकार कर सकते हैं.

मुद्रा योजना (PMMY) से पहले तक छोटे उद्यम के लिए बैंक से लोन लेने में काफी औपचारिकताएं पूरी करनी पड़ती थीं. लोन लेने के लिए गारंटी भी देनी पड़ती थी. इस वजह से कई लोग उद्यम तो शुरू करना चाहते थे, लेकिन बैंक से लोन लेने से कतराते थे.

महिलाओं पर फोकस प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) का पूरा नाम माइक्रो यूनिट डेवलपमेंट रीफाइनेंस एजेंसी (Micro Units Development Refinance Agency) है. मुद्रा योजना (PMMY) की खास बात यह है कि इसके तहत लोन लेने वाले चार लोगों में से तीन महिलाए ..

क्या हैं प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) के लाभ? MSME loan for new business.

मुद्रा योजना (PMMY) के तहत बिना गारंटी के लोन मिलता है. इसके अलावा लोन के लिए कोई प्रोसेसिंग चार्ज भी नहीं लिया जाता है. मुद्रा योजना (PMMY) में लोन चुकाने की अवधि को 5 साल तक बढ़ाया जा सकता है. लोन लेने वाले को एक मुद्रा कार्ड मिलता है, जिसकी मदद से कारोबारी जरूरत पर आने वाला खर्च किया जा सकता है.

MSME loan without collateral.

कौन ले सकता है मुद्रा योजना (PMMY) के तहत लोन? कोई भी व्यक्ति जो अपना व्यवसाय शुरू करना चाहता है, वह PMMY के तहत लोन ले सकता है. अगर आप मौजूदा कारोबार को आगे बढ़ाना चाहते हैं और उसके लिए पैसे की जरूरत है तो आप प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) के तहत 10 लाख रुपये तक के लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं.

MSME loan for new business scheme 2020-21 रजिस्ट्रेशन

दोस्तों, हम बात करेंगे एमएसएमई (MSME) Business loan scheme की जिसमे हम आपको इससे जुडी सभी जानकारी देंगे और इसकी ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया भी बताएंगे।

ऐसे समय में जब देश सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍यम उद्यम (MSME) कर्ज मिलने की समस्‍या से जूझ रहा हैं। तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने एक ऐसा Portal लॉन्‍च किया है जो MSME को केवल 59 मिनट में 1 करोड़ रुपए तक के कर्ज को मंजूरी देगा।

भारत के केंद्रीय वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली ने MSME Credit space के लिए 59 मिनट में MSME business loan के लिए online आवेदन करने के लिए online और त्वरित ऋण सुविधा शुरू की है। असल में अरुण जेटली जी ने इस सुविधा को ऑनलाइन प्रदान करने के लिए एक वेब पोर्टल लॉन्च किया है- psbloansin59minutes.com.

इस Web Portal के माध्यम से सभी इच्छुक और योग्य व्यक्तियों के लिए इन-सिद्धांत स्वीकृति प्राप्त करने में सक्षम हो जाएगा। इस योजना के अंतर्गत यदि कोई व्यक्ति नया कारोबार खोलना चाहता है। तो उसे मात्र 59 मिनट में 1 करोड़ रूपये का लोन उपलब्ध कराया जाएगा।

जैसे कि हमने आपको ऊपर बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने MSME Loan Scheme के तहत एक ऐसा पोर्टल लॉन्‍च किया है जो एमएसएमई को केवल 59 मिनट में 1 करोड़ रुपए तक के कर्ज को मंजूरी देगा। इस पोर्टल को लॉन्‍च करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अब आप अपने घर से ऑफ‍िस तक पहुंचने में लगने वाले समय में लोन हासिल कर सकते हैं। उन्‍होंने कहा कि हमनें एक पायलेट प्रोजेक्‍ट चलाया था, जिसमें मैंने 72,000 एमएसएमई को जोड़ने का लक्ष्‍य दिया था। आज की तारीख में इसमें 72,680 एमएसएमई शामिल किए जा चुके हैं।

MSME loan for new business Scheme की मुख्य जानकारी निम्नलिखित है।

योजना (Scheme) का नाम

MSME Business loan scheme

शुरू किया गया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा

लांच वर्ष

सन 2017

योजना प्रकार

बिजनेस लोन (Business Loan)

सम्बंधित विभाग/मंत्रालय

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय (MSME)

आधिकारिक वेबसाइट

psbloansin59minutes.com

आर्टिकल श्रेणी

केंद्र सरकार योजना

Benefits of MSME Business Loan Scheme – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जीएसटी रजिस्‍टर्ड इकाई के लिए जीएसटी पोर्टल पर ही लोन आवेदन करने का विकल्‍प उपलब्‍ध कराया गया है। मोदी ने कहा कि जब आप जीएसटी रिटर्न फाइल करते हैं, तब आपसे पूछा जाएगा कि क्‍या आप लोन लेना चाहते हैं। जीएसटी रजिस्‍टर्ड इकाई को कर्ज की ब्‍याज दर पर 2 प्रतिशत की रियायत भी दी जाएगी। उन्‍होंने कहा कि जीएसटी का ए‍क हिस्‍सा होने और एक ईमानदार करदाता होना, अब आपकी ताकत बनेगा।

MSME निर्यातकों को निर्यात से पहले और बाद की जरूरतों के लिए कर्ज पर ब्याज सहायता को तीन प्रतिशत से बढ़ाकर पांच प्रतिशत किया गया है। मोदी ने कहा कि 500करोड़ रुपए से अधिक वाली कंपनियों को अब अनिवार्य रूप से टीआरईडीएस का हिस्‍सा होंगी। और इनमें सार्वजनिक क्षेत्र की इकाईयां भी शामिल की जाएंगी।

Main Announcements for MSME Business Loan Scheme:

1. 59 मिनट loan portal का देशव्यापी लॉन्‍च।

2. GST के तहत पंजीकृत MSME Units को एक करोड़ रुपए तक के नए कर्ज पर ब्याज दर में 2 प्रतिशत की छूट।

3. निर्यातकों को निर्यात से पहले और बाद की जरूरतों के लिए कर्ज पर ब्याज सहायता 3% से बढ़ाकर 5% प्रतिशत की गई।

4. MSME से सार्वजनिक कंपनियों के लिए अनिवार्य खरीद को 20 प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत करने का फैसला।

5. माइक्रो और स्मॉल इंटरप्राइजेज द्वारा खरीदारी की अनिवार्यता में कुल खरीद का 3 प्रतिशत, महिला उद्यमियों के लिए आरक्षित होगा। अब केंद्र सरकार की सभी कंपनियों के लिए GeM की सदस्यता लेना ज़रूरी कर दिया गया है।

6. वो अपने सभी Vendors-MSME’s को भी इस प्लेटफॉर्म पर पंजीकृत कराएंगी। जिससे उनके द्वारा की जा रही खरीद में भी MSMEs को अधिक से अधिक लाभ मिलेगा।

7. MSME सेक्टर की फार्मा कंपनियों को बिजनेस करने में आसानी हो। वो सीधे ग्राहकों तक पहुंच पाएं, इसके लिए अब क्लस्टर बनाने का फैसला लिया गया है।

8. सरकार ने कंपनी अधिनियम 2013 में बहुत बड़ा बदलाव कर, MSMEs को कानूनी जटिलताओं से राहत दी है।

9. सरकार आप पर भरोसा करके Self-Certification पर आपके रिटर्न स्वीकृत करेगी। Labor Department की तरह पर्यावरण के Routine Inspection समाप्त होंगे और सिर्फ 10 प्रतिशत MSMEs का निरीक्षण होगा।

10. वायु प्रदूषण और जल प्रदूषण कानूनों के तहत MSMEs के लिए इन दोनों को एक करके, अब सिर्फ एक ही Consent अनिवार्य होगा। Environmental Clearance की प्रक्रियाओं का सरलीकरण और Self Certification को बढ़ावा दिया जाएगा।

इस ऋण योजना के लिए हाल ही में लॉन्च किया गया आम वेब पोर्टल ऋण प्रसंस्करण और टर्नअराउंड टाइम अवधि 20 से 25 दिनों तक केवल 59 मिनट तक कम कर देगा। सैद्धांतिक मंजूरी के बाद, ऋण 7 से 8 दिनों की अवधि के भीतर स्वीकृत किया जाएगा।

Apply Online for MSME Business Loan in 59 Minutes Only –

MSME Business loan के तहत online आवेदन/पंजीकरण (रजिस्ट्रेशन) करने की पूरी प्रक्रिया नीचे दी गयी है।

I. सबसे पहले आधिकारिक वेब पोर्टल यानी https://www.psbloansin59minutes.com/ पर जाएं।

II. वेब होमपेज पर, MSME Business Loan लोन के लिए Online आवेदन करने से पहले पंजीकरण भरें।

III. नाम, ई-मेल आईडी और मोबाइल फोन नंबर जैसे आवश्यक विवरण दर्ज करें।

IV. उसके बाद, एक OTP पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। इसे दर्ज करें और “Proceed” बटन दबाएं।

V. अब अपना पासवर्ड बदलें। एमएसएमई बिजनेस लोन ऑनलाइन आवेदन फॉर्म खोलने के लिए मौजूदा / नए व्यवसाय के लिए फंड की आवश्यकता है के रूप में अपनी आवश्यकता का चयन करें।

VI. यहां आपको अपना विवरण दर्ज करना होगा और बैंकिंग भागीदारों का चयन करना होगा।

VII. इसके बाद, आपको ऋण मंजूर करने की मंजूरी मिल जाएगी।

MSME लोन ब्याज दर (Bank & NBFC)

बैंक / NBFC

ब्याज दर (प्रति वर्ष)

HDFC बैंक

13%

SBI

9.75%

बजाज फिनसर्व

18%

लेंडिंगकार्ट फाइनेंस

18%

ऐक्सिस बैंक

15.5%

ICICI बैंक

13%

कोटक महिंद्रा बैंक

16%

पंजाब नेशनल बैंक (मुद्रा लोन)

10.30%

कॉर्पोरेशन बैंक

10.30%

बैंक ऑफ इंडिया

10.20%

IDFC फर्स्ट

18%

HDB फाइनेंस

18%

फुलर्टन फाइनेंस

17%

फ्लेक्सी लोन

18%

RBL बैंक

18%

Frequently Asked Questions:

क्या Brand new business शुरु करने लिए भी MSME Loan मिलता है?

बिल्कुल। नया बिजनेस शुरु करने के लिए प्रधानमंत्री Employment Generation Programme (पीएमईजीपी) योजना के तहत MSME loan for new business मिलता है।

MSME Loan कौन ले सकता है?

कंपनियां, स्व-व्यवसायी Professional और स्व-व्यवसायी Non- Professional जैसे प्रोप्राइटर, रिटेलर, व्यापारी और अन्य लोग से MSME loan ले सकते हैं

MSME loan की ब्याज़ दर क्या है?

बहुत ही आकर्षक ब्याज दर पर MSME लोन मिलता है

MSME Loan / SME Loan की विशेषताएं और लाभ:

आप बिना किसी कोलैटरल के MSME Loan प्राप्त कर सकते हैं, जिसका मतलब है कि फाइनेंसिंग के लिए किसी भी Asset को गिरवी रखने की ज़रूरत नहीं होती है.

MSME / SME loan का उपयोग किस लिए किया जा सकता है?

अपने फर्म के Infrastructure में Invest करें

Working Capital की ज़रूरतों को पूरा करें

नए Plant और Machinary स्थापित करें

Overhead Expenditure का भुगतान करें

Leave a Comment