Elements of business plan

चाहे आप कोई कॉफी शॉप खोलने जा रहे हैं या बड़ा बिज़नेस हर काम मे आप को यह जानने की ज़रूरत होती है कि आप का व्यवसाय क्यों दूसरों से विभिन्न है और ये क्यों आवश्यक है तभी आप अपने व्यवसाय में पूर्ण सफल हो सकते हैं।

किसी भी बिज़नेस को सफल बनाने के लिए उसके बारे में योजना बनाना जरूरी हैं, इसी योजना को बिज़नेस प्लान कहा जाता है। लगभग हर तरह के Businesses में प्लान बनाना बहुत जरूरी होता है

बिज़नेस प्लान आप द्वारा, आपके पार्टनर या किसी भी बिज़नेस एक्सपर्ट द्वारा बनाया जा सकता है। यह किसी भी व्यपार को समझने के लिए दस्तावेज के रूप में उपकरण होता है।

◆ बिज़नेस प्लान क्या है?

बिज़नेस प्लान में में उसकी सामान्य जानकारी, व्यवसाय और अपने लक्ष्यों को हासिल करने के तरीकों के बारे में लिखा जाता है। यह औपचारिक लिखित दस्तावेज़ के रूप में होता है।बिज़नेस प्लान न केवल गाइड के तौर पर काम करता है बल्कि यह बिज़नेस में नुकसान से भी बचाता है।

इसमें लागत और बिज़नेस का प्रोसीजर के पहलू पहले से तैयार किये जाते हैं। यदि आप कोई बिज़नेस शुरू करने जा रहे हैं तो आप को भी बिज़नेस प्लान बनाना चाहिए क्योंकि यह व्यपार में काफी महत्वपूर्ण जगह रखता है।

लेकिन हमें यहाँ ये याद रखना चाहिए कि बिज़नेस प्लान कोई पत्थर की लकीर नहीं होती। हम इसमें समय पर स्थितयों के अनुसार इसमें बदलाव कर सकते हैं। बिज़नेस प्लान में हर सेक्शन में वह सब शामिल किया जाता है जो सवाल ज़्यादातर पूछे जाते हैं।

◆ Elements Of Business Plan

बिज़नेस प्लान बनाने के लिए सबसे पहले उसके तत्वों के बारे में जानना जरूरी है। क्योंकि एक अच्छा और सफल बिज़नेस प्लान उसके तत्वों को ध्यान में रख कर ही बनाया जाता है। तो चलिए जानते हैं बिज़नेस प्लान में सबसे जरूरी तत्व कोनसे होते हैं।

1. Company Description:- कम्पनी डिस्क्रिप्शन के ज़रिए किसी भी व्यवसाय के बिज़नेस प्लान के बारे में पता चलता है। इस के ज़रिए हमें यह पता चलता है कि व्यवसाय को कब शुरू किया गया और इसका उद्देश्य क्या है।

इस से हमें कम्पनी के बारे में अच्छे से समझने में आसानी होती है। कम्पनी डिस्क्रिप्शन में वर्तमान दृष्टिकोण के साथ साथ भविष्य की संभावनाओं के ऊपर चर्चा करना भी बहुत ज़रूरी है।

अपनी डिस्क्रिप्शन में हर जरूरी जानकारी शामिल करें जो आप के व्यवसाय के लिए लाभदायक हो। आप को निवेशक को यह भरोसा दिलाना है कि उनका पैसा जोखिम में नहीं डलेगा।

2. Market Analysis:- अपने ग्राहकों को समझना आप के व्यवसाय सफलता का पहला कदम है। बिना यह जाने कि आप के ग्राहक कोन है और वह क्या चाहते हैं आप का व्यवसाय सफल नहीं हो सकता। इसको समझने में आसान बनाता है Market विश्लेषण.

अगर आप किसी भी व्यवसाय को शुरू करने जा रहे हैं तो आप को अपने व्यवसाय संबंधित Market Analysis जरूर करना चाहिए क्योंकि इस से ही भविष्य में होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में पता लगता है।

सामान्य तौर पर Market Analysis के सेक्शन में आप के उद्द्योग के बारे में जानकारी, आप के परतयोगी और आप अपने उत्पाद को उद्योग में जगह बनाने के लिए क्या इरादा रखते हैं आदि जानकारी होनी चाहिए।

3. Organization and Management:- एक सेटअप जहाँ पर अलग अलग बैकग्राउंड, रुचि और योग्यता के लोग मिल कर एक ही लक्ष्य को हासिल करने के लिए काम करते हैं, को Organization कहा जाता है।

कर्मचारी दूसरे कर्मचारियों को समझ कर Organization के लक्ष्य को प्राप्त करने की कोशिश करते हैं। यह अति आवश्यक है कि Organization की Management को सही तरीके से की जाए।

यह सामान्य मंच पर लोगों को एक साथ लाने की कला है जो कर्मचारियों को एक सामान्य पूर्वनिर्धारित लक्ष्य की दिशा में काम करने के लिए तैयार रखता है। इस में प्रेरणा, अग्रणी, नियंत्रण, स्टाफ और योजना काफी ज़रूरी हैं।

4. Goods & Services:- गुड्स वस्तुओं को कहा जाता है जैसे कि फ़ूड, इलेक्ट्रॉनिकस, कपड़े आदि जिस से ग्राहक की इच्छाओं की पूर्ति होती है और सर्विसेज एक्शन को कहा जाता है जैसे बाल कटवाना, मसाज करवाना। इस से भी ग्राहक की इच्छाओं की पूर्ति होती है।

गुड्स और सर्विसेज एक दूसरे से अलग हैं लेकिन यह बिज़नेस प्लान में एक महत्वपूर्ण स्थान रखती हैं। अपने बिजनेस प्लान में इनकी क्वालिटी पर पूरा ध्यान रखें ताकि आप के ग्राहक की पूरी सन्तुष्टि हो।इनकी क्वालिटी हर बार वही नहीं होती, यह हर बार अलग होती है। 

उदाहरण के तौर पर आप डॉक्टर के पास पहले दिन जाते हो तो वह दवाई तेज़ देता है क्यूंकि आप ज़्यादा बीमार हो लेकिन कुछ दिन बाद डॉक्टर दवाई बदलता क्यूंकि आप पहले जैसे बीमार नहीं हो। आप को इनकी क्वालिटी का पूर्ण ध्यान रखना चाहिए।

5. Marketing:- किसी भी व्यवसाय को शुरू करना आसान है लेकिन उसे सफल बनाना काफी मुश्किल। यहीं कारण है आधे से ज़्यादा लोग बिज़नेस में फेल हो जाते हैं। किसी भी बिज़नेस को सफल बनाने में मार्केटिंग का एक अहम रोल होता है।

मार्केटिंग एक जरिया होता है जिस से हम अपने ग्राहक को हमारा प्रोडक्ट या सर्विसेज लेने के लिए आकर्षित करते हैं। हम ग्राहक की यादाश्त में अपने प्रोडक्ट या सर्विसेज की वैल्यू डाल देते हैं। 

इस लिए ये बिज़नेस प्लान में एक बेहद जरूरी पड़ाव है। अगर आप मार्केटिंग को एक रचनात्मक तरीके से करते हैं तो आप के व्यवसाय के जल्दी आसमान छूने के मौके और बढ़ जाते हैं। 

भले ही हमारा प्रोडक्ट कितना ही अच्छा क्यों न हो लेकिन जब तक आप के ग्राहकों को उस के बारे में पता नहीं होगा तब तक आप का व्यवसाय सफल नहीं होगा। आज के समय मे मार्केटिंग को ध्यान में रखे बिना बिज़नेस करना नामुमकिन है।

6. Financial Projections:- Finance का मतलब वित्त होता है और वित्त का अर्थ पैसे से जुड़ी सारी गतिविधियां। इस में हम अनुमान लगाते हैं कि हमारा व्यवसाय कितनी जल्दी बढ़ेगा ओर कितना बढ़ेगा। यह काम मुश्किल हो सकता है।

क्योंकि इस में हम ने गंभीर निवेशकों को आकर्षित करने के लिए उन्हें ध्यान में रख कर योजना बनानी होती है। आप के वित्तीय प्रबन्धन को देख कर ही एक निवेशक निर्णय लेता है। इसलिए वित्तीय प्रबंधन लेनदारों और गंभीर निवेशकों का निर्णय लेने के लिए उपकरण है।

आप के बिजनेस प्लान में वित्तीय प्रबंधन के सेक्शन में एक्सपेन्सेंस बजट, कैश फ्लो स्टेटमेंट, बैलेंस शीट और प्रॉफिट एंड लॉस स्टेटमेंट इत्यादि जरूर शामिल होने चाहिए। एक नए व्यवसाय के लिए वित्तीय प्रबंधन बनाना एक कला और विज्ञान दोनों हैं।

◆ Conclusion:- बिज़नेस प्लान बनाना आप के व्यवसाय का जरूरी पार्ट है। आज के समय मे बिना व्यवसाय योजना के सफल हो पाना मुश्किल है। व्यवसाय योजना एक महत्वपूर्ण नियोजन उपकरण है। एक सफल व्यवसाय के लिए बिज़नेस प्लान काफी महत्वपूर्ण और ठोस आधार प्रदान करता है। 

अगर आप ने बिज़नेस प्लान में लिखना बन्द कर दिया है या काफी समय से अपने व्यवसाय प्रबन्धन में कुछ अपडेट नहीं किया तो अपना कुछ समय निकाल कर इसे समर्पित जरूर करें। मै आप के साथ वादा करता हूं इस के बाद आप अपने व्यवसाय के प्रति सकारात्मक महसूस करेंगे और अपने व्यवसाय में जरूर सफल होंगे।

अंत मे मैं आप को यहीं कहना चाहता हूँ कि व्यवसाय योजना बनाने में इतना समय न लें कि यह आप के लिए लाभ की जगह बाधा ही बन जाये। इन सभी चीज़ों को ध्यान में रख कर अपना बिजनेस प्लान बनाएं।

Leave a Comment