Character Certificate: चरित्र प्रमाण पत्र कैसे बनता है और इसे कहां से बनवाया जा सकता है, जानिए सभी स्टेप्स एक साथ

Character certificate को हिंदी में चरित्र प्रमाण पत्र कहा जाता है। चरित्र प्रमाण पत्र किसी व्यक्ति के चरित्र को दर्शाता है। इस प्रमाण पत्र के माध्यम से ही हमें यह पता चलता है कि पूर्व में कोई व्यक्ति अधिकारी क्या गैरकानूनी गतिविधियों में सम्मिलित तो नहीं रहा है। यह दस्तावेज बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। 

School या college में admission लेते वक्त भी authority द्वारा चरित्र प्रमाण पत्र या कैरेक्टर सर्टिफिकेट (Character Certificate) की मांग की जाती है। यह दस्तावेज बहुत आवश्यक होता है अपने साफ-सुथरे चरित्र को दर्शाने के लिए। लेकिन अक्सर कई सारे लोग चरित्र प्रमाण पत्र नहीं बनवा पाते हैं। उनके दिमाग में यही सवाल रह जाता है कि आखिर चरित्र प्रमाण पत्र कैसे बनवाया जाता है। तो अगर आप भी जानना चाहते हैं कि चरित्र प्रमाण पत्र या कैरेक्टर सर्टिफिकेट (Character Certificate) कैसे बनवाया जाता है तो आप आगे का आर्टिकल पढ़ें। आज के आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिन्हें जानने के बाद आप आसानी से अपना चरित्र प्रमाण पत्र या कैरेक्टर सर्टिफिकेट बनवा सकते हैं। 

स्कूल या कॉलेज के कार्य हेतु क्या है कैसे बनवाएं चरित्र प्रमाण पत्र या character certificate?

School या college में admission लेने के लिए अक्सर यह दस्तावेज मांगा जाता है। ऐसी स्थिति में चरित्र प्रमाण पत्र आपके स्कूल या कॉलेज के प्राचार्य द्वारा बनवाया जा सकता है। अगर आप किसी नए स्कूल या कॉलेज में एडमिशन ले रहे हैं तो पिछले स्कूल या कॉलेज द्वारा जारी की गई TC (Transfer Certificate) में भी इस बात की जानकारी दी जाती है कि छात्र का चरित्र या कैरेक्टर कैसा है। 

पुलिस द्वारा भी आप अपना चरित्र प्रमाणित करवा सकते हैं।

दोस्तों भारत में प्राइवेट नौकरी पाने के लिए या सरकारी नौकरी पाने के लिए चरित्र प्रमाण पत्र का होना अति आवश्यक होता है। यह एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है जो पासपोर्ट बनवाने के लिए या विदेश में पढ़ाई पूरी करने के लिए भी आवश्यक होता है। इसलिए यह काम राज्य पुलिस द्वारा भी पूरा किया जाता है। जी हां दोस्तों आप राज्य पुलिस द्वारा भी अपना चरित्र प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। इसे आमतौर पर पुलिस वेरिफिकेशन भी कहा जाता है। राज्य पुलिस यह प्रमाणित कर सकती है कि उसके क्षेत्र में रहने वाले व्यक्ति का चरित्र कैसा है और अतीत में कभी उसका आधिकारिक गतिविधियों में संबंध रहा है या नहीं। पुलिस द्वारा मात्र ₹50 में आप अपना चरित्र प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। 

चरित्र प्रमाण पत्र बनवाने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज-

चरित्र प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की जरूरत पड़ सकती है-

  • आवेदक की फोटो
  • आवेदक का पहचान प्रमाण पत्र या आईडी प्रूफ
  • आवेदक का पता प्रमाण या एड्रेस प्रूफ

कैसे बनवा सकते हैं आप अपना चरित्र प्रमाण पत्र?

यदि आप पुलिस द्वारा अपना चरित्र प्रमाण पत्र बनवाना चाहते हैं या पुलिस वेरिफिकेशन करवाना चाहते हैं तो आपको अपने क्षेत्र या राज्य की पुलिस विभाग की वेबसाइट पर जाना होगा। आजकल चरित्र प्रमाण पत्र बनवाने के ऑनलाइन आवेदन भी होते हैं। आप अपने राज्य की पुलिस विभाग की वेबसाइट से लॉगिन करके आसानी से अपना चरित्र प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। आपको केवल पुलिस विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर एक फॉर्म भरना है। Form भरकर आवेदन करने के कुछ दिनों बाद ही आपको चरित्र प्रमाण पत्र प्राप्त हो जाता है। 

ऑफलाइन चरित्र प्रमाण पत्र का आवेदन कैसे करें?

दोस्तों आप ऑफलाइन भी चरित्र प्रमाण पत्र (Character Certificate) बनाने का आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको केवल एक आवेदन पत्र लिखना होगा। आपको चरित्र प्रमाण पत्र बनवाने हेतु एक एप्लीकेशन लिखनी होंगी। इस एप्लीकेशन में आप अपना फोटो अवश्य लगाएं। एप्लीकेशन के साथ आप court affidavit और अपने आधार कार्ड की प्रतिलिपि लगाएं और अपने पास के पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जमा कराएं। पुलिस अधीक्षक कार्यालय के बाद आपको यह एप्लीकेशन अपने नगर के थाने में जमा करनी है। आवेदन के एक-दो दिन बाद ही पुलिस द्वारा आपको चरित्र प्रमाण पत्र (Character Certificate) सौंप दिया जाता है। दोस्तों चरित्र प्रमाण पत्र या कैरेक्टर सर्टिफिकेट की अवधि केवल 6 महीने की ही होती है। 6 महीने के बाद कैरेक्टर सर्टिफिकेट (Character Certificate) expire हो जाता है। 

चरित्र प्रमाण पत्र या कैरेक्टर सर्टिफिकेट नहीं बन पाने के कारण-

दोस्तों कई बार ऐसा भी होता है कि बार-बार आवेदन करने के बाद भी हमारा चरित्र प्रमाण पत्र (Character Certificate) नहीं बन पाता है। किसी ना किसी कारण से आपकी एप्लीकेशन पुलिस अधीक्षक विभाग द्वारा reject कर दी जाती है। दोस्तों आपकी एप्लीकेशन निरस्त होने का यही कारण हो सकता है कि आपने पहले कभी कुछ ऐसा कार्य किया हो जिस कारण से आपका नाम पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज हो गया है। पहले से ही police record में नाम दर्ज हो जाने के कारण हम अपना चरित्र प्रमाण पत्र नहीं बनवा सकते। इसलिए दोस्तों, हमेशा सतर्क रहें। कभी भी ऐसी गतिविधियों में सम्मिलित ना हो जो कि गैरकानूनी हो और जिसके कारण आप पर अधिकारिक action लेना पड़े। यदि आपका चरित्र पहले से ही साफ सुथरा है पर आप अपने राज्य के तथा देश के जिम्मेदार नागरिक हैं तो आप आसानी से अपना चरित्र प्रमाण पत्र (Character Certificate) बनवा सकते हैं। यदि ऐसा नहीं है तो इस कार्य हेतु आपको काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। 

दोस्तों, ध्यान रहे कि चरित्र प्रमाण पत्र या कैरेक्टर सर्टिफिकेट (Character Certificate) के माध्यम से ही यह पता लगाया जाता है कि आपने पुलिस के दायरे में रहकर कभी कोई गलत काम तो नहीं किया है। यह दस्तावेज थाने से ही प्राप्त किया जाता है। इसलिए ऐसा कोई भी कार्य ना करें (जैसे कि चोरी, डकैती या और कोई जुर्म) जिस कारण से पुलिस रिकॉर्ड में आपका नाम सम्मिलित हो जाए। 

YOU MAY ALSO READ:

अन्तिम शब्द

तो दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हमने आपको बताया कि आप किस प्रकार अपना चरित्र प्रमाण पत्र या कैरेक्टर सर्टिफिकेट (Character Certificate) बनवा सकते हैं। आप offline तथा online माध्यम से अपना चरित्र प्रमाण पत्र या कैरेक्टर सर्टिफिकेट (Character Certificate) आसानी से बनवा सकते हैं। यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है जो कि स्कूल कॉलेज तथा किसी नौकरी का फॉर्म भरते वक्त भी आपके काम आता है। उम्मीद करते हैं कि अब आप जान गए होंगे कि आप किस प्रकार अपना चरित्र प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। आशा करते हैं आपको आज का यह आर्टिकल पसंद आया होगा। धन्यवाद। 

Leave a Comment